24 घंटे बीत जाने के बाद किसानों पर केंद्र ने लिया बड़ा फैसला,की गई एमएसपी में बढ़ोतरी

24 घंटे बीत जाने के बाद किसानों पर केंद्र ने लिया बड़ा फैसला,की गई एमएसपी में बढ़ोतरी

दिल्ली ट्रैक्टर परेड हिंसा के 24 घंटे बाद किसानों पर केंद्र ने एक बड़ा फैसला लिया है।बुधवार को पीएम नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट की बैठक में कोपरा निर्माण करने वाले किसानों को एक बड़ा और महत्वपूर्ण लाभ दिया गया।केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने इसकी जानकारी देते हुए बताया कि इसमें एमएसपी में बढ़ोतरी की गई।

इस में 300 रुपए एमएसपी बढ़ाया गया है

375 रुपये से ज़्यादा बढ़कर 10,335 रुपये प्रति क्विंटल कर दिया गया है।इसकी लागत मूल्य 6805 है।उन्होंने बताया कि बॉल कोपरा को 10,600 रुपये देने का फैसला हुआ है।इस में 300 रुपए एमएसपी बढ़ाया गया है।इसका लागत मूल्य 6,805 और इस में 55% वृद्धी हुई है।

एमएसपी (MSP) किसे कहते है—

एमएसपी को न्यूनतम समर्थन मूल्य कहा जाता है।जब सरकार किसी फसल के लिए एमएसपी तय करती है।तो देश भर की मंडी में किसानों से उस फसल की खरीदी न्यूनतम समर्थन मूल्य पर की जाती है।एमएसपी तय होने के बाद किसानों को अपनी फसल की बिक्री के लिए ज्यादा परेशान नहीं होना पड़ता।

मौजूदा समय में कौन सी फसल के लिए है–एमएसपी (MSP)

मौजूदा समय में 23 फसलों के लिए सरकार के द्वारा एमएसपी तय किया जाता है।सात अनाज,पांच दलहन,सात तिलहन और चार कमर्शियल फसलों के लिए एमएसपी तय किया जाता है। धान,गेहूं,मक्का,जौ,बाजरा,चना,तुअर,मूंग,उड़द और मसूर के लिए एमएसपी तय की जाती है।सरसों, सोयाबीन,सूरजमूखी, गन्ना,कपास और जूट के लिए भी MSP को तय किया जाता है।सरकारों ने समय के साथ MSP का दायरा बढ़ाने की कोशिश की है।

एमएसपी से फायदा—

एमएसपी तय होने से किसानों के लिए सबसे बड़ा फायदा यह होता है कि मान लीजिए फसल का भाव अगर नीचे आ जाता है तो भी उसे यह उम्मीद रहती है कि वह अपनी फसल को एमएसपी पर सरकार को बेच सकते है।

खबरें आस पास के….

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page