ह्रदय रोग विशेषज्ञ डॉ प्रभात का शव गांव आते ही रो पड़े ग्रामीण,बेटे सिद्धार्थ ने दी मुखाग्नि तो नाम हो गई सबकी आंखें

पटना

सीवान के जाने-मान ह्रदय रोग विशेषज्ञ डॉ प्रभात कुमार का पार्थिव शरीर सिवान ले जाया गया।बुधवार को दिन में 11:00 बजे उनका शव इंडिगो विमान से हैदराबाद से पटना पहुंचा था।एयरपोर्ट से ही उनके शव को उनके पैतृक गांव सिवान के बड़कागांव ले जाया गया।बुधवार दोपहर 2:30 बजे के बाद एंबुलेंस से शव को घर पहुंचते ही चीख-पुकार मच गई।

बेटे सिद्धार्थ ने दी मुखाग्नि तो नाम हो गई सबकी आंखें

परिजनों के अलावा आसपास के अमूमन सभी घरों के लोगों की चीख व जुटे लोगों की आंखें उनकी प्रसिद्धि बयां कर रही थी।कई गांव वाले इस बात की चर्चा कर रहे थे कि इस क्षेत्र के लोगों को इतनी व्यवस्था के बावजूद डॉ प्रभात कुमार इलाज की व्यवस्था कराते थे।आब ऐसे लोगों के लिए कौन करेगा।गांव के रामजानकी मठ के पास स्थित श्मशान घाट पर बेटे सिद्धार्थ ने मुखाग्नि देने ही जूटे लोगों की आंखें नम हो गई।

बुधवार को डॉ प्रभात को श्रद्धांजलि देने पहुंचे लोग

इससे पहले पटना एयरपोर्ट पर उनके परिवार और गांव के लोग बड़ी संख्या में मौजूद थे।शहर के कई जाने-माने चिकित्सक भी एयरपोर्ट पर उनको श्रद्धांजलि देने पहुंचे हुए थे।इनमें आईएमए अध्यक्ष डॉ सहजानंद,डॉ संजय शाही,डॉ संजय प्रसाद,डॉ संजीव कुमार,डॉक्टर रंजन कुमार,डॉ मारुति नंदन,जेडीयू एमएलए डॉ संजीव,कर्नल एके सिंह,डॉ शैलेश मिश्रा आदि ने उन्हें एयरपोर्ट पर ही श्रद्धांजलि दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *