मदन सहनी दिल्ली हुए रवाना वहां लालू यादव से मुलाकात के बाद ले सकते हैं कोई फैसला

पटना

मंत्री पद से इस्तीफे के ऐलान के बाद भी नीतीश कुमार की तरफ से भाव नहीं दिए जाने के बाद मदन सहनी लालू यादव से मिलने दिल्ली गये हैं।सूत्रों के अनुसार दिन भर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के बुलावे का इंतजार करते रहे लेकिन जब कोई रिस्पांस नहीं मिला तो वे दिल्ली निकल गये।

नीतीश कुमार की तरफ से भाव नहीं दिए जाने के बाद मदन सहनी लालू से मिलने दिल्ली गये हैं

मंत्री पद से इस्तीफे के ऐलान के बाद भी नीतीश कुमार की तरफ से भाव नहीं दिए जाने के बाद मदन सहनी लालू से मिलने दिल्ली गये हैं।सूत्रों के अनुसार दिन भर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के बुलावे का इंतजार करते रहे।लेकिन जब कोई रिस्पांस नहीं मिला तो दिल्ली निकल गये।दिल्ली में उनकी मुलाकात लालू यादव से हो सकती है।हालांकि,सहनी ने अभी तक दिल्ली जाने की वजह नहीं बताया है।सहनी शुक्रवार को अपने इस्तीफे का ऐलान कर दरभंगा चले गए थे।दरभंगा में उन्होंने कहा था वो शनिवार को पटना लौटेंगे और तब इस्तीफे पर अपना अंतिम फैसला लेंगे।दिल्ली जाने से पहले मंत्री मदन सहनी करीब 7 बजे दरभंगा से पटना पहुंचे।वो मुजफ्फरपुर में एक कार्यक्रम में भी शामिल हुए।पटना में आने के बाद वो इस बात का इंतज़ार कर रहे थे कि नीतीश कुमार उनसे बात करेगें।लेकिन जब ऐसा नहीं हुआ तो वो सीधे दिल्ली निकल गये।सूत्रों के अनुसार जदयू के कुछ नेताओं ने तो मदन सहनी से बात की,लेकिन मुख्यमंत्री की तरफ से कोई भी संदेशा नहीं आया।सहनी अपने करीबियों से राय-मशविरा करने के बाद दिल्ली के लिए रवाना हो गए।

शनिवार को भी खूब गुस्से में दिखें

मंत्री मदन सहनी अफसरशाही के बढ़ते प्रभाव से दुखी हो कर लगातार बयान दे रहे हैं।शुक्रवार को विभाग के प्रधान सचिव पर जमकर बरसे।शनिवार को भी खूब गुस्से में दिखें।शनिवार दोपहर मुजफ्फरपुर में उन्होंने बिजेपी से आने वाले मंत्री जीवेश मिश्र को दलाल तक कह दिया।जीवेश मिश्र बिहार सरकार के श्रम संसाधन मंत्री हैं।जीवेश ने सहनी से जुड़े मामले पर बोलते हुए ये कहा था कि मंत्री मदन सहनी अधिकारियों के साथ तालमेल नहीं बिठा पा रहे हैं।जीवेश के इसी बयान से नाराज सहनी ने उनपर विवादित टिप्पणी की और उन्हें सीमा में रहने की नसीहत दे दी थीं।

सहनी की मानें तो अतुल कुमार ने ट्रांसफर-पोस्टिंग की उस फाइल को रोक रखा है

मदन सहनी की नाराजगी की असल वजह समाज कल्याण विभाग के प्रधान सचिव अतुल कुमार हैं।सहनी की मानें तो अतुल कुमार ने ट्रांसफर-पोस्टिंग की उस फाइल को रोक रखा है जो उन्होंने फाइनल कर जारी करने के लिए प्रधान सचिव को दी थी।सहनी का आरोप है कि सरकार में अफसर,मंत्रियों को काम नहीं करने दे रहे है,मनमानी कर रहे हैं।इसीलिए को लेकर मदन सहनी ने इस्तीफे का ऐलान किया था।सहनी भले ही जिद पर अड़े हों लेकिन कहा ये जा रहा है कि प्रधान सचिव ने तबादलों में गडबड़ी की रिपोर्ट मुख्यमंत्री को भेजी है।यही वजह है कि मुख्यमंत्री मदन सहनी को लेकर अब कुछ ज्यादा ही सख्त दिख रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page