मंत्री सम्राट चौधरी ने अध्यक्ष विजय कुमार सिंह को बेइज्जत किया वो अभूतपूर्व था –अरवल के पूर्व विधायक चितरंजन कुमार

अरवल

बिहार विधानसभा के अंदर कल जिस तरीके से मंत्री सम्राट चौधरी ने अध्यक्ष विजय कुमार सिंह को बेइज्जत किया वो अभूतपूर्व था।इसकी बेहद निंदा करते हुए अरवल के पूर्व विधायक चितरंजन कुमार ने बताया कि सदन की कार्यवाही लाइव हो रही थी।उसमें दिख रहा था कि अध्यक्ष ने कोई ऐसी बात नहीं कही थी जिस से मंत्री को कुछ बुरा मान जाना चाहिये था।

मंत्री ने जब सदन को गलत जानकारी दी तो अध्यक्ष ने उन्हें टोका

अध्यक्ष मंत्री सम्राट चौधरी को सिर्फ ये कह रहे थे कि पहले से तय हुए नियम के मुताबिक वे विधायकों के सवालों का जवाब ऑनलाइन डाल दें।दरअसल सदन में ज्यादा से ज्यादा विधायकों को सवाल पूछने का मौका मिले।इस के लिए ये व्यवस्था की गयी है।विधायकों को जब सवालों का जवाब ऑनलाइन मिल जाता है तो मंत्री को सदन में पूरा जवाब नहीं पढना पड़ता।ऐसे में समय बचता है और ज्यादा विधायक सवाल पूछ पाते हैं।विधान सभा अध्यक्ष को सिर्फ इस बात पर आपत्ति थी कि मंत्री सम्राट चौधरी के विभागों के सवालों का जवाब ऑनलाइन नहीं आता।मंत्री ने जब सदन को गलत जानकारी दी तो अध्यक्ष ने उन्हें टोका और आंकड़े बताये कि सिर्फ 67 परसेंट जवाब ही ऑनलाइन दिये जा रहे हैं।

मंत्री ने भरे सदन में अध्यक्ष को जलील कर दिया


इसके बाद जो हुआ वो शर्मनाक था।मंत्री ने भरे सदन में अध्यक्ष को जलील कर दिया।ये ऐतिहासिक शर्मनाक वाकया था कि किसी मंत्री से आहत होकर विधानसभा अध्यक्ष को सदन की कार्यवाही स्थगित कर आसन से उठ जाना पड़ा।सदन को स्थगित करने वक्त विधानसभा अध्यक्ष रूआं से हो गये थे।उनकी आवाज भर आयी थी।सम्राट चौधरी की बदसलूकी से आहत विधानसभा अध्यक्ष ने इस्तीफे तक का ऑफर कर दिया था।अध्यक्ष ने सदन में जाने तक से इंकार कर दिया था।इस अभद्र रवैये को लेकर इसकी काफी निन्दा व्यक्त करने वालों में अरवल मण्डल अध्यक्ष दीपक शर्मा,नगर अध्यक्ष शंकर साहनी,ज्योति रंजन,अभय गुप्ता,अमृत राज उपाध्याय,अंगद कुमार,जितेंद्र कुमार,करण कुमार जय प्रकाश कुमार,उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *