बिहार सरकार ने प्रदेश में नाइट कर्फ्यू का ऐलान किया

पटना

बिहार में तेजी से बढ़ते कोरोना संक्रमण की रोकथाम को लेकर सीएम नीतीश कुमार की अध्यक्षता में क्राइसिस मैनेजमेंट की ग्रुप की मीटिंग खत्म हो गई है। सरकार ने प्रदेश में नाइट कर्फ्यू का ऐलान किया है। सीएम नीतीश कुमार की अध्यक्षता में मंगलवार को क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक हुई।जिसमें छह जनवरी से आगे के लिए गाइडलाइन को लेकर निर्णय लिये गये।पूरे राज्य में 6 जनवरी से 21 जनवरी तक रात्रि कर्फ्यू लगाये जायेंगे। इस के तहत रात्रि के 10 बजे से सुबह छह बजे तक लोगों का चलना फिरना प्रतिबंधित रहेगा।

सीएमजी की बैठक में कोरोना संक्रमण की रोकथाम को लेकर कई महत्वपूर्ण फैसले लिए गए हैं। इस के तहत अब से रात आठ बजे तक ही दुकानें खुलेंगी। आवश्यक सेवाओं की दुकानें ही खुल सकेंगी। 8वीं तक के क्लास ऑनलाइन चलेंगे, जब कि 9वीं से उपर के क्लास आधी क्षमता के साथ संचालित होंगी।पूजा स्थल श्रद्धालुओं के लिए बंद कर दिया गया है।मंदिरों में पुजारी ही पूजा करेंगे।वहीं स्टेडियम, स्वीमिंग पुल को पूरी तरह से बंद कर दिया गया है।अंतिम संस्कार में 20 लोग ही शामिल हो सकेंगे।वहीं, सार्वजनिक स्थल पर 50 व्यक्ति ही शामिल हों सकेंगे। किसी भी तरह के कार्यक्रम के लिए प्रशासन से अनुमति लेना अनिवार्य होगा।

कोरोना संक्रमण की रोकथाम को लेकर प्रमुख फैसले

सभी सरकारी और गैर सरकारी कार्यालय 50 फीसदी उपस्थिति के साथ खुलेंगे।कार्यालयों में बाहरी व्यक्ति के प्रवेश पर रोक रहेगा।

सभी दुकान एवं प्रतिष्ठान रात के 8 बजे तक ही खुलेंगे।

पब्लिक ट्रांसपोर्ट में बैठने की निर्धारित क्षमता के 100 फीसदी उपयोग की अनुमति रहेगी।लेकिन भीड़-भाड़ न हो इसका ख्याल रखना होगा।

निजी वाहनों और सार्वजनिक स्थानों और पैदल चलते हुए मास्क पहनना अनिवार्य होगा।

सभी तरह के सार्वजनिक एवं निजी सामाजिक, राजनैतिक,मनोरंजन, खेल-कूद,सांस्कृतिक एवं धार्मिक कार्यक्रम 50 फीसदी क्षमता के साथ आयोजित किए जा सकेंगे।

रात के 10 बजे से सुबह 5 बजे तक नाइट कर्फ्यू लागू रहेगा।

सभी तरह के मेले और प्रदर्शनी पर प्रतिबंध रहेगा।

आधरिकारिक सूत्रों के मुताबिकअधिकतर जिलाधिकारियों ने कोरोना से बचाव के लिए सख्ती की सिफारिश की है।माना जा रहा है कि बुधवार को एक बार फिर कोर ग्रुप की बैठक होगी।जिस में मुख्यमंत्री सख्ती को लेकर ठोस फैसला लेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page