बिहार में 10 दिनों के अंदर लूटकांड के आरोपियों को पुलिस ने धर दबोचा

नवादा

भारत फाइनेंसियल इंक्लूजन कंपनी की लूट में शामिल छः लुटेरों को पुलिस

नवादा जिले के रजौली थाना क्षेत्र के सुदूरवर्ती सवैयाटांड़ पंचायत अंतर्गत मंझिया मारण जंगली क्षेत्र में बीते 8 मार्च को भारत फाइनेंशियल इंक्लूजन लिमिटेड के अभिकर्ता से हुई लूट का पुलिस ने किया उद्भेदन।इस लूटपाट की घटना के बाद  भारत फाइनेंसियल इंक्लूजन के असिस्टेंट मैनेजर ने प्राथमिकी रजौली थाने में दर्ज कराया गया था।एसडीपीओ संजय कुमार पांडे ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर लूट कांड के उद्भेदन करने के बाद लुटेरों को गिरफ्तार करने की जानकारी दी।उन्होंने बताया कि भारत फाइनेंशियल इंक्लूजन लिमिटेड के असिस्टेंट मैनेजर संतोष कुमार यादव ने रजौली थाने में लिखित आवेदन देकर लूट कांड की जानकारी दी थी।उन्होंने बताया था कि बीते 8 मार्च को फाइनेंसियल कंपनी के अभिकर्ता लोग बाइक से गांव के लोगों के पास गए हुए थे।यह कंपनी लोगों को स्वाबलंबी बनने के लिए लोन देने का कार्य करती है।जिन से किस्तों के हिसाब से पुनः रुपयों की वसूली करते हैं।गांव गए भारत फाइनेंशियल इंक्लूजन लिमिटेड के कर्मचारी लोगों से किस्त का राशि वसूल कर वापस लौट रहे थे।इसी बीच पैसे लेकर आने के क्रम में टोपा पहाड़ी से सटे मंझियामा के जंगल के समीप लुटेरों ने हथियार का भय दिखाकर अभिकर्ता के पास रहे करीब डेढ़ लाख (150486) रूपये की छिनतई कर ली गयी थी।

मोबाइल टावर नहीं रहने के कारण काफी परेशानी हुई

एसडीपीओ ने बताया कि घटना के बाद असिस्टेंट मैनेजर ने रजौली थाने में लिखित आवेदन देकर अज्ञात लोगों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कराया था।पुलिस के समक्ष घटना को लेकर काफी चुनौती थी।क्योंकि जहां पर यह घटना घटित हुआ था। वहां पर मोबाइल का नेटवर्क काम नहीं करता है।जिस के कारण बहुत खास लीड पुलिस को नहीं मिल रही थी।नेटवर्क नहीं रहने के कारण टेक्निकली कोई सपोर्ट नहीं मिल पा रहा था।क्योंकि आज के युग में अनुसंधान का मुख्य तरीका वैज्ञानिक तरीका माना जाता है।मोबाइल टावर नहीं रहने के कारण काफी परेशानी हुई।घटना स्थल रजौली मुख्यालय से काफी दूर रहने के  के कारण काफी चुनौतीपूर्ण था।एसडीपीओ ने परेशानी पूर्ण तथा चुनौती भरे मामले को उद्भेदन कर अंजाम तक पहुंचाने वाले थानाध्यक्ष सह दरबारी चौधरी को बधाई दी।उन्होंने कहा कि हमारे जिला पुलिस पदाधिकारी धूरत सयाली सावलाराम के निर्देशन में स्पेशल टीम बनाई गई।जिस का नेतृत्व थानाध्यक्ष सह इंस्पेक्टर दरबारी चौधरी चौधरी कर रहे थे।एसडीपीओ ने कहा कि यहां की पुलिस पारंपरिक सूचना तंत्र के आधार पर मामले का पटाक्षेप किया।

लूटपाट करने में शामिल 6 लोगों को घटनास्थल पर थे तथा 4 लोग लाइनर का काम कर रहे थे

बगैर किसी टेक्निकल सहयोग के थानाध्यक्ष ने मामले को खुलासा कर अंजाम तक पहुंचाया।उन्होंने कहा कि लूट कांड का उद्भेदन थानाध्यक्ष के मेहनत का नतीजा है।जिसमें पता चला कि इस घटना को अंजाम देने वाले लोगों की संख्या करीब 10 रही थी।लूटपाट करने में शामिल 6 लोगों को घटनास्थल पर थे तथा 4 लोग लाइनर का काम कर रहे थे।एसडीपीओ ने बताया कि लूट कांड की घटना को अंजाम देने वाले छह लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।जिस में तीन रजौली थाना क्षेत्र के हैं और तीन झारखंड के डोमचांच थाना क्षेत्र के हैं।इन लोगों के पास से लूटी गई रकम में 17 हजार रुपये की बरामद की गई है।इन लोगों से पूछताछ में पता चला है कि सारे रुपए आपस में बांट लिए थे।जिस के बाद पैसे के यह लोग पार्टी मनाने में कर खर्च कर दिए।लेकिन बचे हुए 17 हजार रुपये इनके पास से बरामद किए गए हैं।पैसे से कपड़े खरीदे गए हैं।उसे भी पुलिस ने बरामद कर लिया है।एसडीपीओ ने बताया कि गिरफ्तार सभी लड़के 19 से 20 वर्ष के जवान है।पुलिस की इस कार्रवाई के बाद क्षेत्र में शांति स्थापित हो सकेगी,यह उनका मानना है।उन्होंने बताया कि अगर इनके ऊपर अंकुश नहीं लगाया जाता तो यह लोग आगे और भी बड़ी बड़ी घटनाओं को अंजाम दे सकते थे।

बाकी अन्य चार लोगों की तलाश जारी है

जोकि दोनों राज्यों के बीच चुनौती बनी सकती थी।लूट कांड संख्या 112 / 21 के घटना को अंजाम देने वाले शामिल लुटेरों में कोडरमा जिले के डोमचांच थाना क्षेत्र अंतर्गत चौधरी डीह निवासी नरसिंह यादव के पुत्र पप्पू कुमार यादव,राजेश यादव के पुत्र रोहित यादव उर्फ बौना,किशोरी पांडे के पुत्र चंदन कुमार के अलावे रजौली थाना क्षेत्र के सवैयाटांड़ पंचायत अंतर्गत फगुनी गांव निवासी रामू तुरिया के पुत्र लालजीत कुमार तुरिया,अर्जुन तुरिया के पुत्र विजय तुरिया एवं प्रसादी तुरिया के पुत्र पप्पू कुमार तुरिया को गिरफ्तार कर लिया गया है।बाकी अन्य चार लोगों की तलाश जारी है।उन सभी को भी जल्द ही गिरफ्तार कर अन्य लोगों की तरह जेल भेजा जाएगा। प्रेस कांफ्रेंस के दौरान एसडीपीओ के साथ थानाध्यक्ष सह इंस्पेक्टर दरबारी चौधरी,एसआई कमलेश कुमार,एएसआई मुनीलाल पासवान,एएसआई निरंजन सिंह के अलावा पुलिस टीम के जवान उपस्थित थे। 

कुमार विश्वास के साथ रामजी प्रसाद की रिपोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *