बिहार में संपूर्ण बंदी को लेकर लगातार मांग उठ रही थी,बिहार में 15 मई तक पूर्ण ताला बंदी,नीतीश कुमार ने ट्वीट कर दी यह जानकारी

पटना

पटना मे कोरोना के बढ़ते कहर के बीच बिहार सरकार ने पूरे प्रदेश में 15 मई तक लॉकडाउन लगा दिया है।बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने लॉकडाउन का ऐलान करते हुए कहा है कि काउंटर के प्रस्ताव पर हमने आज लॉकडाउन लगाने का फैसला किया है।इस लॉकडाउन की विस्तृत गाइडलाइन जारी करने का आदेश दे दिया है।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने ट्वीट कर दिया बिहार के लोगों को यह जानकारी

नीतीश कुमार ने ट्वीट कर लिखा, ‘कल सहयोगी मंत्रीगण और पदाधिकारियों के साथ चर्चा के बाद बिहार में वर्तमान में 15 मई,2021 तक लाकडाउन लागू करने का निर्णय लिया गया।इस के विस्तृत मार्गनिर्देशिका और अन्य गतिविधियों के संबंध में आज ही आपदा प्रबंधन समूह (संकट प्रबंधन समूह) को कार्रवाई करने के लिए हेतू निर्देश दिया गया है। ‘

लॉकडाउन पर महत्वपूर्ण जानकारी …..

विद्यालय एवं विश्व विद्यालयों की परीक्षाएँ रुकती हैं।

सभी शिक्षण संस्थान बंद रहेंगे।

आम लोगों के लिए धार्मिक स्थल बंद रहेंगे।

शादी समारोह में बारात और डीजे नहीं होगा।50 लोगों की अनुमति होगी।

सभी प्रकार के वाहनों का परिचालन बंद रहेगा।

सार्वजनिक ट्रांसपोर्ट में निर्धारित बैठने की क्षमता के 50% के उपयोग की अनुमति रहेगी।केवल रेल,वायुमंडलीय या अन्य लंबी दूरी की यात्रा करने वालों को ही सार्वजनिक परिवहन के उपयोग की अनुमति होगी।

वैसे निजी वाहन जिन्हें जिला प्रशासन के द्वारा विशेष पास निर्गत किया जाएगा।हवाई जहाज,ट्रेन के यात्रा यात्री कर रहे हैं और उनके पास टिकट हो।

रेस्टोरेंट्स इन खाने की दुकानों को बंद करते हैं। इनका संचालन केवल होम ऑफर के लिए प्रात 9:00 बजे से रात्रि 9:00 बजे तक रहेगा।

राष्ट्रीय राजमार्गों पर स्थित ढाबे टेक होम के आधार पर कार्यरत रह सकते हैं।

सभी प्रकार के सामाजिक,राजनीतिक,मनोरंजन,खेल कूद,शैक्षणिक,सांस्कृतिक और धार्मिक आयोजन समारोह प्रतिबंधित होंगे।श्राद्ध कार्यक्रम में केवल 20 व्यक्तियों की उपस्थिति हो सकती है।

सिनेमा हॉल,शॉपिंग मॉल,क्लब,स्विमिंग पूल,स्टेडियम, जिम,पार्क और उद्यान पूरी तरह से बंद रहेंगे।

बिहार में इन सेवाओं पर लॉकडाउन का नियम का पालन नहीं होगा —-

आवश्यक सेवाएं,जिला प्रशासन,पुलिस,सिविल डिफेन्स,विद्युत आपूर्ति, जलाशय,स्वच्छता,फायर ब्रिगेड,स्वास्थ्य,आपदा प्रबंधन,दूरसंचार,डाक विभाग से संबंधित कार्यालय यथावत कार्य करेंगे।

अस्पताल और अन्य संबंधित स्वास्थ्य अनुप्रयोगों,पशु स्वास्थ्य सहित,उनके निर्माण और वितरण इकाइयां सरकारी और निजी दवा की दुकानें,मेडिकल बिल,नर्सिंग होम,एकारेंस सेवाएं संबंधित अनुबंध यथावत कार्य करेंगे।

बैंकिंग,बीमा,एटीएम,औद्योगिक और विनिर्माण कार्य,सभी प्रकार के निर्माण कार्य,ई-कॉमर्स से जुड़ी सभी गतिविधियाँ,कृषि और इनसे जुड़े कार्य,प्रिंटर और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया,टेलीकम्युनिकेशन,इंटरनेट सेवाएं,इंस्टालेशन और केवल सेवाओं से संबंधित विज्ञापन पैट्रोल पंप,एलपीपी, पैट्रोलियम आदि संबंधित खुदरा एवं भंडारण कार्यालय खुलेंगे,कोल्ड स्टोरेज एवं भंडारण सेवाएं और निजी सुरक्षा सेवाएं यथावत जारी रहेंगी।

आवश्यक खाद्य सामग्री,फल और सब्जी का मांस (टायरला पर चलने वाली घूमने वाली बिक्री सहित),मांस,मछली,दूध, पीडीएफएस की दुकानें सुबह 7:00 बजे से 11:00 बजे तक खुल जाएंगी।

सोमवार को हुई थी पटना में हाईलेवल मीटिंग

इधर,एक बार फिर क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक बुलाई गई है।आप को बता दें कि सीएम नीतीश कुमार ने सोमवार की शाम हाईलेवल बैठक बुलाई थी।यह बैठक लगभग डेढ़ घंटे तक चली और इस बैठक में कोरोना संक्रमण के बीच बिहार की बिगड़ती परिस्थिति की समीक्षा की गई थी। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बेवजह सड़क पर निकलने वालों पर सख्ती बरतने का निर्देश दिया है।पटना हाईकोर्ट में लॉकडाउन को लेकर देना है जवाब आप को बता दें कि नीतीश सरकार को मंगलवार को ही पटना हाईकोर्ट में लॉकडाउन पर जवाब दाखिल करने के लिए कहा था।साथ ही आईएमए ने भी बिहार में लॉकडाउन लगने के सुझाव सरकार को दिए थे।आईएमए की ओर से दिए गए सुझाव पर सीएम नीतीश ने अधिकारियों के साथ चर्चा भी किए।आप को बता दें कि पटना हाई कोर्ट ने भी सरकार से पूछा था कि वह राज्य में लॉकडाउन लगाएगी या हम फैसला करेंगे।सोमवार को कोरोना पीड़ितों के इलाज के संबंध में दायर जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए पटना हाईकोर्ट ने महाधिवक्ता से कहा कि वे राज्य सरकार से बात करें और 04 मई 2021 को बताएं कि राज्य में लॉकडाउन लगेगा या नहीं? हाई कोर्ट ने कहा कि अगर चार मई को कोई फैसला नहीं आता है तो हम कड़े फैसले ले सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page