बिहार में मृत महिला के पास से मिले मोबाइल,उस मोबाईल ने खोली 5 लाशों का रहस्य

बिहार (नवादा)

नवादा जिले के फुलवरिया डैम से बुधवार 12 मई को पांच शवों की पहचान मुश्किल हो रही थी।ऐसे में एक मोबाइल कॉल ने पुलिस की राह को आसान बना दिया।संभव है मोबाइल कॉल डिटेल ही पुलिस के लिए आगे की राह आसान बना देगा।दरअसल,सुबह में चार लाशें डैम में एक साथ मिली थी।एक महिला,दो किशोरी और एक किशोर का शव बरामद था।पुलिस की मुश्किलें बढ़ी हुई थी।

महिला के कपड़े के अंदर से एक मोबाइल पुलिस को मिला लेकिन वह मोबाइल बंद था

आसपास के लोग शव की पहचान नहीं कर पा रहे थे।ऐसे में किसी सुराग की तलाश में पुलिस जद्दोजहद कर रही थी।तभी बरामद शवों की तलाशी ली गई तो महिला के कपड़े के अंदर से एक मोबाइल पुलिस को मिला लेकिन वह मोबाइल बंद था।शायद वह मोबाइल डिस्चार्ज हो चुका था।ऐसे में पुलिस ने उस मोबाइल के सीमकार्ड को निकालकर दूसरे मोबाइल में लगाई। नंबर चालू होते ही एक कॉल आया।रजौली के थानाध्यक्ष दरबारी चौधरी ने कॉल रिसीव किया।उधर से कॉल करने वाली एक महिला थी।उसने पूछा कहां हो भाभी…।थानाध्यक्ष ने उस महिला से नाम पता पूछा फिर बरामद शवों के बारे में बताया।कॉल करने वाली महिला मनिता देवी मृतका निर्मला देवी की ननद थी।मनिता से बात-चीत में शवों की पहचान हो चुकी थी।घर का पता भी चल चुका था।पुलिस मृतकाें के घर सिरदला थाना इलाके के कसियाडीह पहुंचती है।वहां घर खुला हुआ मिलता है लेकिन सभी सदस्य गायब मिलते हैं।पड़ोसियों से पता चलता है कि महिला के चार बच्चे थे,सभी साथ में ही निकले थे।पुलिस के समक्ष असमंजस होता है कि आखिर पांचवा बच्चा कहा हैं।पांचवा बच्चा बड़ी बेटी नीतू थी,जिसका अतापता अभी नहीं मिल रहा था।पुलिस फिर फुलवरिया डैम के पास पहुंचती हैं जहां चार शव मिले थे।स्थानीय गोताखोराें काे लगाया गया।दूर में तैरता नीतू का शव को भी बरामद किया गया।

धमनी पंचायत का चतरो गांव निवासी छोटू महतों की बेटी थी

पुलिस इस मामले में मृतका निर्मला के ससुर रघुनंदन यादव काे हिरासत में ली है।पति सुनील यादव जो कि पेशे से ट्रक चालक हैं और वर्तमान में उड़ीसा में रह रहे हैं।उनके आने का भी इंतजार किया जा रहा है।सभी शवों का पोस्टमार्टम करा मायके के परिजन साथ ले गए हैं।पुलिस को उम्मीद है कि वैज्ञानिक जांच में मोबाइल घटना के राजफाश में कारगर अस्त्र साबित हाेगा।मृतका का मायके रजौली थाना इलाके के ही धमनी पंचायत का चतरो गांव निवासी छोटू महतों की बेटी थी।बेटी व चार नाती-नतिन की मौत से पिता सहित मायके के अन्य स्वजनों का रो-रोकर बुरा हाल हो गया है।

ये हैं मृतक के नाम

निर्मला देवी पति सुनील यादव(35 वर्ष),बड़ी बेटी नीतू कुमारी (13वर्ष),मंझली टूसी कुमारी (12वर्ष),छोटी ऋषि कुमारी (11वर्ष) व पुत्र रूपेश कुमार (09वर्ष) शामिल है।

फिलहाल,पुलिस इस मामले को हत्या मानकर अनुसंधान को आगे बढ़ा रही है।

पुलिस पक्ष ने क्या कहा ?

डीएसपी रजौली संजय कुमार पांडेय ने कहा कि प्रथम द्रष्टया यह आत्महत्या नहीं बल्कि हत्या प्रतीत होता है।साक्ष्य को मिटाने के लिए शव को डैंप में फेंका गया। सभी बिंदुओं पर जांच जारी है।

नवादा से रामजी प्रसाद की रिपोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *