बिहार में भाजपा ने दिया कई दलों को तगड़ा झटका,लालू के करीबी नेता आज भाजपा में शामिल हुए

बिहार में भाजपा ने दिया कई दलों को तगड़ा झटका,लालू के करीबी नेता आज भाजपा में शामिल हुए

बिहार (पटना) राष्ट्रीय जनता दल के पूर्व सांसद सीताराम यादव,पूर्व विधान पार्षद दिलीप कुमार यादव सहित विभिन्न दलों के कई नेताओं ने बुधवार को भारतीय जनता पार्टी के प्रभारी भूपेंद्र यादव की मौजूदगी में भाजपा की सदस्यता ग्रहण कर लिये। इस मौके पर बिहार प्रदेश अध्यक्ष डॉ. संजय जायसवाल सहित कई नेता मौजूद रहे।भाजपा प्रदेश कार्यालय में आयोजित मिलन समारोह में राजद के पूर्व सांसद और लालू यादव के बेहद करीबी रहे सीताराम यादव समेत राजद के कई नेता भाजपा का दामन थाम लिया।

सभी नेताओं ने बिहार भाजपा प्रभारी भूपेंद्र यादव के सामने सदस्यता ग्रहण की

राजद के पूर्व विधायक सुबोध पासवान,नगीना देवी,रामजी मांझी और दिलीप कुमार यादव ने भी अपने समर्थकों के साथ भाजपा का दामन थामा है।राजद के इन सभी नेताओं ने बिहार भाजपा प्रभारी भूपेंद्र यादव के सामने सदस्यता ग्रहण की है।इस के अलावा कांग्रेस की अनीता देवी,पटना की उपमहापौर मीरा देवी भी भाजपा में शामिल हो गई।इस मिलन समारोह में राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के विधि प्रकोष्ठ के अध्यक्ष मनोज कुमार सिंह,युवा रालोसपा के महासचिव रोशन कुशवाहा सहित कई नेता भी भाजपा में शमिल हुए।

सीताराम यादव का भाजपा में जाना राजद के लिए एक बड़ा झटका माना जा रहा है

इस मिलन समारोह के दौरान भूपेंद्र यादव के अलावा राज्यसभा सांसद सुशील कुमार मोदी,बिहार प्रदेश अध्यक्ष डॉ. संजय जयसवाल और मंत्री रामसूरत राय मौजूद रहे।पूर्व सांसद सीताराम यादव का भाजपा में जाना राजद के लिए एक बड़ा झटका माना जा रहा है। इस मौके पर भूपेंद्र यादव ने कहा कि अगर राजद, कांग्रेस सहित अन्य दलों के नेता उन्हें छोडकऱ भाजपा के साथ जा रहे हैं।तो इसका सीधा मतलब है कि उनका अपने नेतृत्व की कार्यशैली पर भरोसा नहीं है।

राजद और कग्रेस की आंखों पर परिवारवाद का पटी चढ़ा है—भूपेंद्र यादव

उन्हें भरोसेमंद नेतृत्व चाहिए, जो भाजपा देश को दे रही है। नीति,नीयत व नेतृत्व विहीन दलों से लोगों का मोहभंग होना स्वाभाविक है।उन्होंने कहा,”राजद ने हमेशा वोट बैंक की राजनीति की और उसी वोट बैंक से छलावा किया।कांग्रेस ने भी वोट बैंक की राजनीति की और परिवार के अलावा किसी की तरफ देखा भी नहीं।राजद और कग्रेस की आंखों पर परिवारवाद का ऐसा पटी चढ़ा है कि उन्हें बेटा-बेटी के अलावा कुछ दिखता ही नहीं।”

खबरें आस पास के…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *