बिहार में नक्सलियों का धमकी भरा पोस्टर,3 गद्​दारों को मौत के घाट उतारने का किया गया है ऐलान…

BIG BRAKING NEWS—–

बिहार (नवादा)

नवादा जिले के उग्रवाद प्रभावित सिरदला थाना इलाके में एक बार नक्सलियों ने दस्तक दिया है।इस थाना क्षेत्र के बांधी पंचायत के कुशाहन मध्य विद्यालय की दिवार पर नक्सलियों ने पोस्टर चिपकाया है।यह विद्यालय सिरदला थाना व बाजार से महज दो किलोमीटर पूरब दिशा में रजौली-गया स्टेट हाइवे 70 के किनारे अवस्थित है।आप को बता दें कि वर्ष 2016 में भी इस विद्यालय के चारदिवारी पर इसी प्रकार का पोस्टर चिपकाया गया था।इस पोस्टर में दो,तीन महत्वपूर्ण बाते उल्लेखित है।तीन गद्​दारों को मारने का ऐलान,कुछ डॉक्टरों से लेवी की वसूली का जिक्र प्रमुखता से किया गया है।एक बात और साफ किया गया है कि आम पब्लिक से संगठन को कोई लेना देना नहीं है।

जाहिर है कि पोस्टर रात में चिपकाया गया है।अब चिपकाने वाले नक्सली हैं या शरारती तत्व पुलिस जांच में ही साफ हो सकेगा।फिलहाल,सूचना के बाद पुलिस पोस्टर को जब्त कर ली है।प्रभारी थानाध्यक्ष जितेंद्र कुमार ने कहा कि मामले को गंभीरता से लिया गया है,जांच अभी जारी है।

सैकड़ों राउंड फायरिंग किया गया था और कुछ गाड़ियों में आग लगा दी गई थी

बताया गया कि इसके पूर्व 2016 में भी इसी स्कूल की दिवार पर पोस्टर चिपकाया गया था।जिस के बाद निर्माणाधीन तिलैया-कोडरमा रेल खंड के खरौंध स्थित बेस कैंप पर नक्सलियों ने बड़ा हमला किया था।कार्य कर रहे मजदूर व मुंशी की जमकर पिटाई किया था।पॉपलीन,स्कार्पियो,बोलेरो को फुंक दिया गया था।सैकड़ों राउंड फायरिंग किया गया था।आज की घटना सामने आने के बाद लोगों को पुरानी घटना फिर से जेहन में उमड़ने-घुमड़ने लगी है।

कौन हुआ जेल से आजाद

सूत्र बताते हैं कि नवादा मंडल कारा में कई नक्सली बंदी हैं। होली के बाद उनमें से कुछ जमानत पर बाहर आने वाले थे। हालांकि वे बाहर नहीं आ सके हैं।जबकि पोस्टर में जो संदेश लिखा हुआ है।उस से ऐसा जाहिर होता है कि हाल के दिनों में कोई बड़ा नक्सली नेता छूटा है।अब कौन छूटा और कहां से छूटा पुलिस अनुसंधान में सामने आएगा।

जानिए क्या है पोस्टर में

नक्सलियों लाल व हरे रंग के स्याही से सादे पन्ने पर लिखा है। पहला पाराग्राफ लाल रंग से लिखा है जिसमें कहा गया है कि— पार्टी के साथ गद्दारी कर तीन लोग भाग गए हैं।जिस के विरूद्ध कार्रवाई किया जाएगा।आज पार्टी ऐलान करती है कि हम लोग से गांव वालों से कोई लेना देना नहीं है।हम लोग को सिर्फ तीन लोग चाहिए जो पार्टी का गद्दार है।जो पार्टी को लूटा है,पार्टी उसका फरमान निकाला है।अब उसकी मौत का,अब वह बचने वाला नहीं है,उन्हें अब मारना होगा।

दूसरा पारा हरे रंग से लिखा गया है,जिसमें कहा गया है कि —उसने हमारे कमांडर को धोखा दिया है।अब हमारा कमांडर जेल से आजाद हो गया है।अब उसे जरूर मारना होगा,क्योंकि हमारा कमांडर उसी की वजह से 5 साल जेल काटा है।यह तीन लोगों ने लेवी का सारा पैसा गवन किया है,उन तीनों को मौत धोखा नहीं ऐलान है।

कुमार विश्वास के साथ रामजी प्रसाद की रिपोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *