बिहार में दानापुर-बनारस इंटरसिटी सुपरफास्ट एक्सप्रेस दुर्घटनाग्रस्त हो गई..

पटना (दानापुर)

बिहार के दानापुर में दानापुर बनारस इंटरसिटी सुपरफास्ट एक्सप्रेस दुर्घटनाग्रस्त हो गई है।इस दौरान एक एसी बोगी और एक एसएलआर बोगी एक दूसरे पर चढ़ने के कारण 5 यात्रियों की मौत होने की पुष्टि दानापुर डीआरएम सुनील कुमार ने की है।जब कि इस हादसे में 15 यात्री घायल हुए हैं।जिस में से 7 की हालत गंभीर है।आप सोच रहे हैं कि इतनी बड़ी घटना होने के बाद भी इसको लेकर कोई हंगामा नहीं हो रहा है।दरअसल,यह मॉक ड्रिल थी।

इस एक्सीडेंट की खबर पूरे स्टेट में फैल गई

दानापुर बनारस इंटरसिटी सुपरफास्ट एक्सप्रेस (05125) का यह एक्सीडेंट दानापुर स्टेशन के पास जमालुद्दीन चक में करवाया गया।उसके बाद मॉक ड्रिल हुई।रेलवे और एनडीआरएफ की संयुक्त टीम ने इस मॉक ड्रिल के बारे में किसी को नहीं बताया था।हालांकि इस एक्सीडेंट की खबर पूरे स्टेट में फैल गई।इस दौरान न सिर्फ पटना पुलिस बल्कि एनडीआरएफ की टीम भी पहुंची।जब कि स्‍थानीय अग्निशमन के साथ-साथ एनडीआरएफ की टीम भी घटनास्थल पर तुरंत पहुंच गई थी।जिसे पहले से तैयार किया गया था।

इस हादसे में 15 घायल और 5 की मृत्यु

इस घटना को देखने के लिए भीड़ जुट गई थी।जब कि ट्रेन की एक दूसरे पर चढ़ी बोगी को रेलवे बचाव दल और एनडीआरएफ की टीम ने न सिर्फ उतारा बल्कि उसके अंदर फंसे यात्रियों को भी निकाला गया।यही नहीं।इस के बाद ट्रेन की दो बोगियों को काटकर ट्रेन को गंतव्य स्थान के लिए भेज दिया गया।जब कि यह पूरा मॉक ड्रिल कई घंटे चला और इसे घटना की तरह ट्रीट किया।जब कि रेस्क्यू ऑपरेशन चलाने के साथ लोगों को बचाकर पीएमसीएच भेजा गया।इस दौरान दानापुर डीआरएम और एनडीआरएफ के कमांडेंट भी मौजूद थे।इस के साथ-साथ एसआरपीके एसपी और स्टेट पुलिस बल भी मौजूद था।दानापुर डीआरएम सुनील कुमार ने इस की जानकारी देते हुए बताया कि हमने मॉक ड्रिल आयोजित की थी।जिस में दानापुर बनारस एक्सप्रेस को दुर्घटनाग्रस्त बताकर फ्लैश कराया।इस में एनडीआरएफ की भी टीम शामिल थी।इस हादसे में 15 घायल और 5 की मृत्यु दिखाई थी।इस के बाद यह ऑपरेशन चला जिसे पूरी सफलता के साथ अंजाम दिया गया।एनडीआरएफ के असिस्टेंट कमांडेन्ट अभिषेक कुमार राय ने बताया।’सुबह सूचना मिली थी कि एक ट्रेन दुर्घटनाग्रस्त हुई इसमें कुछ यात्री घायल हुए हैं।इस के बाद हमारी 45 की संख्या में टीम तुरंत मौके पर पहुंच गई।इसके बाद मॉक ड्रिल में रेलवे और हमारी टीम ने अन्‍य एजेंसियां के साथ मिलकर काम किया और लोगों का रेस्क्यू किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page