बिहार में ट्रैक्टर पलटने से हुई तीन मजदूरों की मौत,मचा कोहराम

पटना (पालीगंज)

पालीगंज (गुरुवार) की सुबह थाना क्षेत्र के गुलीटांड़ गांव के पास निर्माणाधीन पेट्रोल पंप के टँकी में बालू लदी ट्रैक्टर पलट जाने से तीन युवा मजदूरों की मौत हो गयी।जानकारी के अनुसार पालीगंज थाना क्षेत्र के गुलीटांड़ गांव के पास एनएच 139 किनारे पेट्रोल पंप का निर्माण कराया जा रहा है।जिस की चैंबर बनाने के लिए गड्ढा खोद गया है।उसके पास ही निर्माण कार्य मे लगे एक ट्रैक्टर बालू लादकर खड़ी थी।उस ट्रैक्टर के टेलर में तीन युवा मजदूर सोए हुए थे।ट्रैक्टर चालक ने गुरुवार की सुबह जैसे ही ट्रैक्टर को पीछे की ओर बढ़ाना चाहा कि अचानक पिछली पहिया गड्ढे में चली जाने से ट्रैक्टर का टेलर पलट गई।इस हादसे में तीनों युवा मजदूर बालू के नीचे दब गया। जिससे तीनो की मौत घटनास्थल पर ही हो गयी।

पुलिस ने सभी शवों को कब्जे में लेकर पालीगंज थाने लायी

वही घटना की सूचना मौके पर मौजूद लोगों ने पालीगंज पुलिस को सूचना दिया।यह सूचना पाकर मौके पर पहुंची पालीगंज पुलिस से जेसीबी की सहायता से शव को बाहर निकाला।शव की पहचान पालीगंज थाना क्षेत्र के अंकुरि गांव निवासी महेंद्र राम के 18 वर्षीय पुत्र नवनीत राम,रामशरण प्रसाद के 20 वर्षीय पुत्र सुबोध कुमार व बाबूलाल पासवान के 19 वर्षीय पुत्र दीपक कुमार के रूप में हुआ।पुलिस ने सभी शवों को कब्जे में लेकर पालीगंज थाने लायी।वही घटना की सूचना पाकर मृतकों के परिजनों ने पालीगंज थाने पहुंचे।

पोस्टमार्टम के लिए पालीगंज अनुमंडल अस्पताल भेज दिया गया

जहां मृतक के परिजनों को रो-रो कर बुरा हाल हो गया।मौके पर बेटे की जुदाई के गम में मृतक नवनीत की माँ कहती थी कि “हमर घर के दीपक बुत गेल अब हमर बंश कइसे चलत”। पूरे थाने परिसर में चीख पुकार से वातावरण ह्रदय विदारक व गमगीन हो गयी थी।वही पुलिस ने कानूनी प्रक्रिया पूरी कर शव को पोस्टमार्टम के लिए पालीगंज अनुमंडल अस्पताल भेज दिया।

ग्रामीणों ने किया अनुमंडल अस्पताल में स्थायी पोस्टमार्टम ब्यवस्था कराने की मांग

वही पोस्टमार्टम के लिए शव को पालीगंज अनुमंडल अस्पताल पहुंचते ही वहां के पदाधिकारी पोस्टमार्टम करने से इनकार करते हुए कहा कि विभागीय आदेश के बाद यहां पोस्टमार्टम करने पर रोक लगा दी गयी है।जिस से ग्रामीण व मृतक के परिजन उग्र हो गए।बाद में कुछ प्रतिष्ठित व प्रभाव ब्यक्तियो के पैरवी पर पोस्टमार्टम किया गया।इस समस्या को देखते हुए ग्रामीणों ने स्वास्थ्य विभाग के आला अधिकारियों से अनुमंडल अस्पताल में स्थायी रूप से पोस्टमार्टम की सुविधा प्रदान करने की मांग किया है।

दो घरों में शहनाई बजने के बजाए छाया मातम

ज्ञात हो कि तीनों मृतक एक साथ ट्रैक्टर पर काम करता था और तीनो बचपन से दोस्त था।नवनीत कुमार पांच बहन व एक भाई था।मृतक नवनीत की बहन की शादी 24 अप्रैल को होनेवाली थी। नवनीत की मौत से अब घर मे खुशी के स्थान पर मातम छा गया।जिस के मौत हो जाने से परिजनों के सामने अंधेरा छा गया है।वही सुबोध कुमार पांच भाई व एक बहन था।बड़े भाई जयदीप कुमार का 17 अप्रैल को तिलक था। सुबोध की मौत के बाद मृतक के घर मे खुशी के स्थान पर कोहराम मच गया।जबकि मृतक दीपक तीन भाई व तीन बहन था।इस प्रकार एक ही गांव के तीन युवाओं की मौत से हाहाकार मच गया।पालीगंज के विडियो के द्वारा मृतक के परिजनों को 20-20 हजार दे दिया गया हैृृ और चार लाख के लिए मांग कर रहे थे।इस घटना की सूचना पाकर स्थानीय विधायक संदीप सौरभ पालीगंज अनुमंडलीय अस्पताल पहुंचकर मृतकों के परिजनों से मुलाकात किए।अंकुरी-महाबलीपुर से युवा मुखिया प्रत्याशी छोटे कुमार (निकेश कुमार) मृतक के परिजनों के साथ इस जो के घड़ी में शामिल हुए।

राहुल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *