बिहार में खनन विभाग के पदाधिकारी ने सोन नदी से अवैध बालू परिवहन करने के आरोप में दर्जनों वाहन को किया जब्त

पटना (पालीगंज)

इस मामले में पालीगंज,दुल्हिन बाजार,रानीतलाब थाने में एफआईआर दर्ज कराते हुए जब्त वाहनों को पुलिस के हवाले किया गया है।आप को बता दें कि राजधानी पटना से सटे ग्रामीण क्षेत्रों में सोन नदी से प्रशासन और पुलिस की मिलीभगत से बालू माफिया अवैध खनन कर सरकार को प्रतिदिन लाखों का चूना लगा रहे हैं।वहीं पुलिस प्रशासन मूकदर्शक बनी हुई है।

सरकार को प्रतिदिन हो रहा है लाखोंं का नुकसान

एक ताजा मामला पालीगंज अनुमंडल क्षेत्र का है।जहां पुलिस प्रशासन से बेखौफ बालू माफिया सोन नदी से प्रतिदिन सैकड़ों वाहन से बालू परिवहन कर रहे हैं।अवैध बालू परिवहन से सरकार को प्रतिदिन लाखोंं का चूना लग रहा है।आप को बता दें कि सोन नदी से बालू निकासी का टेंडर ब्रॉडसन कम्पनी ने सरकार से ली थी।लेकिन प्रशासन और पुलिस से सकारात्मक सहयोग नहीं मिलने के कारण सरकार के सामने सोन नदी से बालू खनन करने से इनकार कर दिया था।जिस के बाद 1 मई से बालू खनन का कार्य ब्रॉड्सन कम्पनी ने बंद कर दिया।कम्पनी ने सरकार से शिकायत की थी कि सोन नदी से भरी मात्रा में प्रतिदिन अवैध बालू खनन किया जा रहा है।जिसके कारण कम्पनी को भारी नुकसान हो रहा है।

”गुप्त सूचना मिली थी कि सोन नदी से बालू खनन प्रतिबन्धित होने के बाद भी बालू खनन कर परिवहन किया जा रहा है।उसी आलोक में आज जांच के दौरान रानीतलाब थाना क्षेत्र में 9 ट्रैक्टर को अवैध परिवहन करने के आरोप में जब्त कर सभी पर थाने में प्राथमिकी दर्ज की गयी है। दुल्हिन बाजार थाना में दो वाहनों सहित एक लाइनर पर प्राथमिकी दर्ज कराया गया है।पालीगंज थाने में भी नदी से बालू परिवहन करते तीन हाईवा सहित चार वाहनों पर प्राथमिकी दर्ज कराया गया है।” सुधांशु कुमार श्रीवास्तव, खनन विभाग पदाधिकारी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page