बिहार में कितनी मिलेगी अब छूट,क्या रहेगा बंद और अनलॉक-2 के लिए आज क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की गई बैठक

पटना

बिहार में कोरोना को लेकर लगातार स्थिति में सुधार हो रहा है।राज्य में कोरोना से एक्टिव मरीजों की संख्या पांच हजार के करीब है।प्रतिदिन मिलने वाले नये संक्रमितों की संख्या भी पांच सौ के नीचे आ चुकी है।ऐसे में अब उम्मीद लगायी जा रही है कि कोरोना को लेकर लगाये गये अनलॉक वन की मियाद पूरा होने के बाद अनलॉक दो में राज्य सरकार की ओर से और राहत देते हुए अन्य संस्स्थानों को भी खोलने की छूट दी जाये।

16 जून से सरकार की तरफ से अनलॉक 3 को लेकर एलान होना है

बिहार में अनलॉक-1 की मियाद मंगलवार यानी 15 जून को खत्म हो रही है।16 जून से सरकार की तरफ से अनलॉक-3 को लेकर एलान होना है।इस लिहाज से आज क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक के हो सकती है।हालां कि अभी तक बैठक का वक्त तय नहीं किया गया है।लेकिन हर हाल में मंगलवार तक यह बैठक हो जाएगी।

पिछले दिनों मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने खुद राजधानी पटना का जायजा लिया था

माना जा रहा है कि सरकार अनलॉक-1 से अनलॉक-2 तक के चरण में नियमों के अंदर कोई बहुत ज्यादा बदलाव करने के मूड में नहीं है।फिलहाल अनलॉक-1 में जो रियायतें दी गई हैं।उन्हें ही अनलॉक-2 में जारी रखा जा सकता है।पिछले दिनों मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने खुद राजधानी पटना का जायजा लिया था।इस दौरान लोगों के मास्क नहीं पहनने और उनकी लापरवाही पर चिंता जताई थी।

सरकार ने बाजार खोलने के लिए शाम 5 बजे तक का वक्त दिया है

मुख्यमंत्री ने लोगों से अपील की थी कि संक्रमण कम रहे इसलिए मास्क जरूर लगाएं और नियमों का पालन करें। फिलहाल बिहार में नाइट कर्फ्यू का दौर जारी है।सरकार ने बाजार खोलने के लिए शाम 5 बजे तक का वक्त दिया है।अल्टरनेट डे पर दुकानें खुल रही हैं।निजी वाहनों के परिचालन को मंजूरी दी गई है। 50 फ़ीसदी कर्मियों के साथ सरकारी और निजी ऑफिस काम कर रहे हैं।ऐसे में सब को इस बात का इंतजार है कि आगे छूट का दायरा कैसे बढ़ाया जाएगा।

जुलाई महीने से शिक्षण संस्थानों के खुलने की उम्मीद है

हालांकि सरकार ने एक बात साफ कर दिया है कि फिलहाल शिक्षण संस्थान नहीं खुलेंगे।जुलाई महीने से शिक्षण संस्थानों के खुलने की उम्मीद है।शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने खुद कहा है कि अगर संक्रमण नियंत्रण में रहा तो अगले महीने से क्रमवार शिक्षण संस्थानों को खोलने का फैसला लिया जाएगा।

सब से पहले उच्च शिक्षा से जुड़े संस्थान खोले जाएंगे

बिहार में सभी शिक्षण संस्थान 5 अप्रैल से बंद हैं।माना जा रहा है कि सरकार अगर जुलाई महीने में शिक्षण संस्थानों को खोलने का फैसला करती है।तो सब से पहले उच्च शिक्षा से जुड़े संस्थान खोले जाएंगे।उस के बाद उच्च माध्यमिक और माध्यमिक की बारी आएगी। सबसे अंत में प्राथमिक विद्यालय खुलेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page