पालीगंज में बन्दी के दौरान महागठबंधन को मिला किसान मजदूर संयुक्त संघर्ष समिति का साथ

पटना (पालीगंज)


पालीगंज बिहार विधानसभा में विपक्ष दल के विधायको के पिटाई व तीनो काला कृषि कानूनों के खिलाफ महागठबंधन के आह्वान पर बिहार बन्दी के दौरान महागठबंधन को शुक्रवार को पालीगंज में किसान मजदूर संयुक्त संघर्ष समिति का साथ मिला।बिहार बन्द के दौरान पलीगंज बाजार को बंद रखा गया। इस बंदी में दुकानदारों,ब्यवसाइयों व गाड़ी चालकों का पूर्ण सहयोग रहा।मौके पर पटना औरंगाबाद रोड को बंद कर आम सभा किया गया।

किसान देश का रीढ़ है,यदि यह कमजोर हो गया तो पूरे देश पर आर्थिक संकट के बादल मंडराने लगेगा

बंद व सभा का नेतृत्व करते हुए किसान मजदूर संयुक्त संघर्ष समिति के संयोजक डॉ. श्यामनन्दन शर्मा ने कहा कि अब संघर्ष आर पार की है।या तो काला कानून मुक्त खेत तथा किसान होंगे या मोदी मुक्त भारत बनेगा।नीतीश सरकार द्वारा सदन में विधायको पर बर्बर हमला काफी शर्मनाक है।इस तानाशाह हरकत के लिए नीतीश कुमार को माफी मांगनी चाहिए।किसान देश का रीढ़ है।

यदि यह कमजोर हो गया तो पूरे देश पर आर्थिक संकट के बादल मंडराने लगेगा।लेकिन सरकार किसानों के भलाई के बदले नए नए कानून लागू कर गुलाम बनाना चाह रही है।अब बिहार में नीतीश की सरकार भी जनता के प्रतिनिधियों का दमन कर निरंकुशता का परिचय दे रहा है।इस मौके पर किसान मजदूर संयुक्त संघर्ष समिति के पालीगंज प्रखंड अध्यक्ष अभय शर्मा,माले नेता अनवर हुसैन, किसान नेता दिलीप ओझा,राजद नेता अरबिंद कुशवाहा,सहित अन्य लोग मौजूद थे।

PANKAJ KUMAR

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page