पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से आगामी चुनावों के संदर्भ में तेजस्वी यादव मुलाक़ात किए

पटना

केंद्र सरकार द्वारा निरंतर देश के संघीय ढाँचे और संवैधानिक संस्थाओं पर प्रहार किया जा रहा है।उन्होने कहा
देश एक महत्वपूर्ण चौराहे पर खड़ा है।केंद्र सरकार जन कल्याणकारी कामों को छोड़कर अपनी सहयोगी संस्थाओं के सहयोग से हर वक्त विभिन्न-विभिन्न राज्यों में चुनाव लड़ने में अधिक व्यस्त रहती है।किसी भी राज्य के विधानसभा चुनावों में कभी भी भारत सरकार और उसके सम्पूर्ण मंत्रिपरिषद का इस प्रकार की सक्रियता कभी भी नहीं देखी गयी।

उन्होंने कहा राष्ट्रीय अध्यक्ष आदरणीय लालू प्रसाद जी का मानना है कि विपक्ष के लिए यह समय देश के लोकतांत्रिक मूल्यों की रक्षा,विचारधारा की प्रतिबद्दता तथा सिद्धांतों की स्थिर राजनीति का है।देश एक महत्वपूर्ण चौराहे पर खड़ा है। यह वक्त जनतंत्र हित में स्वतंत्रता,समानता,सामाजिक न्याय, आरक्षण,क्षेत्रीय संस्कृति,भाषा,रहन-सहन,सांस्कृतिक पहचान और धर्मनिरपेक्षता के संवैधानिक मूल्यों को बचाने का है।

देश में बंगाल की विशिष्ट पहचान है।बंगाल के लोग बहुत ही प्रबुद्ध है।बंगाल की अपनी सांस्कृतिक और राजनीतिक पहचान है।मुझे पूर्ण विश्वास है कि बंगाल के लोग विभाजनकारी नीति में यक़ीन रखने वाले बाहर के लोगों के हाथों बंगाली संस्कृति और पहचान को कभी भी ख़त्म नहीं होने देंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page