पटना में अवैध खनन को लेकर रानी तालाब में हुई घटना,सभी हमलावरों के खिलाफ किया गया केस दर्ज और नामजद आरोपी के घर छापेमारी में मिला शराब

पटना (बिक्रम)

पटना जिला से सटे रानी तलाव थाना क्षेत्र में सोन नदी में अवैध बालू खनन रोकने गए रानी तालाब पुलिस पर बालू माफियाओं ने जानलेवा हमला कर दिया।पिटाई के साथ-साथ पथराव में रानी तलाव थाना प्रभारी विमलेश कुमार समेत आधा दर्जन पुलिसकर्मी बुरी तरह से जख्मी हो गए।

इस पथरा के बीच पुलिसकर्मी ने भाग कर अपनी जान बचाई। यह घटना गुरुवार की देर रात हुई।इस मामले में खनन विभाग के पदाधिकारी राजेंद्र कुमार की ओर से हमलावरों पर एफ आई आर दर्ज कराई गई है।देर रात तक कोई अपराधी पकड़ा नहीं जा सका था।

पुलिस पर भारी पड़े बालू माफिया

आपको बता दें कि रानी तलाव थाना प्रभारी को सूचना मिली थी कि बेरर टोला में अवैध बालू का कारोबार किया जा रहा है और बालू माफियाओं सोन नदी से बालू का अवैध खनन करते हैं।इसकी सूचना पर करीब आधा दर्जन पुलिसकर्मियों के साथ थाना प्रभारी ने देर रात बेरर टोला में बालू माफियाओं के ठिकाने पर छापामारी कर दी।

बालू माफियाओं का पुलिस टीम पर जानलेवा हमला सभी अपने जान बचाकर वहां से भागे,अगर ग्रामीण नहीं जुटते तो वहां बिगाड़ सकते थे हालात

बेरर टोला का एक बालू माफिया अपने समर्थकों के साथ गोलबंद हो गए।बालू माफिया पुलिस से उलझ गए और पुलिस टीम पर पथराव करना शुरू कर दिया।पथराव होने पर पुलिसकर्मी अपनी जान बचाने के लिए इधर-उधर भागने लगे।हमलावरों ने दूर तक पीछा कर पथराव किया पुलिस को जान बचाकर बेरर टोला से भागना पड़ा।

पहले भी कई बार हो चुके हैं इस इलाके में पुलिस पर हमले

आप को बता दें कि पहले ही रानी तलाव में अवैध बालू खनन के आरोपित को गिरफ्तार करने गई पुलिस टीम पर बालू माफियाओं ने हमला कर दिया था।इस हमले में कई पुलिसकर्मी घायल भी हुए थे।

21 अप्रैल 2020 को पटना सिटी में लॉकडाउन का पालन कराने गई पुलिस पर हमला हुआ था।फायरिंग में गोली लगने से टेट कारोबारी सनी कुमार की मौत भी हो गई थी।

10 जून 2021 को दीघा के विकास नगर में शराब धंधेबाज के घर पर छापामारी कर रही पुलिस पर हमला हुआ था।

पुनपुन के लोदीपुर गांव में भी पुलिस की पिटाई की गई थी।

जान लेने पर उतारू थे हमलावर आरोपी का मकान को किया गया सील

रानी तालाब थाना अध्यक्ष विमलेश कुमार ने यह जानकारी दिया कि छापामारी के दौरान एक बालू लदे ट्रैक्टर को देखा गया था।पकड़े गए ट्रैक्टर के बारे में विमलेश कुमार कुछ पूछताछ कर रहे थे।तभी मिथिलेश यादव,साधु यादव और अमर यादव सहित अन्य अज्ञात लोगों ने पुलिस पर हमला कर दिया।सभी हमलावर शोर मचाने लगे उसके समर्थक भी जुट गए।ग्रामीणों ने मामले को समझकर बीच बचाव करने की कोशिश किया।आगे रानी तालाब थाना अध्यक्ष ने यह जानकारी दिया कि तभी जाकर उन सभी लोगों का जान बची।वरना हमलावर उनके जान के प्यासे हो गए थे।विमलेश कुमार अंत में विक्रम,पालीगंज,दुल्हिन बाजार आदि थाने की पुलिस को सूचना देकर उन्हें नाकाबंदी कर अपराधियों का धरपकड़ करने के लिए बोले।पालीगंज के डीएसपी अजय कुमार ने बताया कि नामजद सभी आरोपित के घरों को सील कर दिया गया है।

तीन नामजद आरोपी के घर पुलिस ने हमले के बाद किया सील,छावनी में तब्दील हुआ फेरर का इलाका

पुलिस पर किए गए इस हमले के बाद कई थानों की पुलिस मौके पर पहुंच गई।इस के बाद पूरा इलाका छावनी में तब्दील हो गया।पुलिस आरोपी की तलाश कर रही थी।जिन लोगों ने पुलिस टीम पर पत्थरबाजी शुरू की थी सभी गांव छोड़कर भाग गए।यहां पूरे इलाके में नाकाबंदी कर दी गई है।फिलहाल पुलिस बालू माफियाओं पर कार्रवाई करने में जुट गई है और उनकी भी तलाश कर रही है जिन्होंने थाना अध्यक्ष और सभी सिपाही पर हमला कर उन्हें जख्मी कर दिया है।

हमलावर के घर की तलाशी में मिली भारी मात्रा में शराब

यह सूचना वरीय पुलिस अधिकारियों को दे दी गई।कुछ देर बाद ही आसपास के 5 थानों की पुलिस छापामारी करने के लिए मौके पर पहुंच गई।पुलिस ने एक आरोपी मिथिलेश यादव के घर की तलाशी ली।सूत्रों के हवाले से यह बताया गया कि वहां से शराब की बोतल और देशी शराब बरामद की गई है।

आरोपितों के खिलाफ हुआ केस दर्ज सभी के घरों को किया गया सिल

अंचलाधिकारी एवं खनन विभाग द्वारा अभियुक्त के घर को सील कर दिया गया है।सरकारी कार्य में बाधा डालने और पुलिस पर हमला,शराब का अवैध कारोबारी और खनन विभाग द्वारा भी आरोपित के खिलाफ बालू में अवैध कारोबारी से संबंधित केस दर्ज किया गया है।पुलिस ने मामले में 8 लोगों को नामजद एवं अन्य 5 अज्ञात को अभियुक्त बनाया है।

रानी तलाव थाने की पुलिस पर दूसरी बार हुई जोरदार हमला

इस साल जून में पटना पुलिस पर 4 बार हमला हो चुका है।इसमें दो बार अकेले रानी तलाव पुलिस पर हमला किया गया है।शुक्रवार की घटना से पहले 30 जून को रानी तालाब के जीतन छपरा में आर्म्स एक्ट के आरोपित को पकड़ने गई पुलिस पर हमला कर दिया गया था।इस हमले में रानी तलाव थाना अध्यक्ष सहित कई जवान जख्मी हो गए थे।आपको बताते चलें कि जीतन छपरा में हमलावरों ने हमला कर होमगार्ड के राइफल तक छीन लिए थे।

आपको बताते चलें की रानी तलाव थाना अध्यक्ष ने अंत में यह भी जानकारी दिया कि मौके पर गांव के कुछ ग्रामीण लोग नहीं जुड़ते तो स्थिति और बिगड़ सकती थी और उन सभी लोगों का जान भी जा सकता था।थाना अध्यक्ष ने या बताया कि उन पर हमला करने वाले में मिथिलेश यादव,साधु यादव और अमर यादव सहित दर्जन भर लोग शामिल थे और सभी ने मिलकर पुलिस पर जोरदार पथराव किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *