दलित बेटी की हत्या से कांप उठी वैशाली की धरती

हाजीपुर (वैशाली)

दुनियाभर में”बेटी बचाओ” का नारा बुलंद करने वाली”सु शासन” की सरकार में बेटियों को बचाने के बजाय मारा जा रहा है।”सुप्रिया” की मौत का मामला अभी वैशाली के लोग भूला भी नहीं सके थे कि एक बार फिर वैशाली की एक दलित बेटी की हत्या कर लाश को पानी में फेंक दिया गया।पानी में तैरती हुई लाश को जब स्थानीय ग्रामीणों ने देखा तो शोर मचाया और स्थानीय थाने को सूचना दी गई।खबर मिलते ही स्थानीय थाना की पुलिस मौके पर पहुंच कर लाश को पानी से बाहर निकाला।लाश की पहचान होने के बाद स्थानीय ग्रामीणों ने लाश को लेकर जन्दाहा-महुआ मार्ग पर शाहपुर चौक के करीब सड़क जाम कर दिया।

मृतका के परिजन ने इस संबंध में लिखित शिकायत दर्ज कराते हुए पुलिस को बताया है कि मृतका घर से 20 दिसंबर को ही घर से शौच के लिए गई जहां से उसका अपहरण कर लिया गया।जिसमें अनुराग कुमार,राकेश चौधरी,मनोज चौधरी,अंशू कुमार आदि शामिल हैं।बीते 20 दिसंबर के बाद अपहृत लड़की किरण कुमारी (20 साल लगभग) का कुछ भी पता नहीं चल सका।वहीं मृतका की मां अकली देवी पति जगेश्वर राम ग्राम शाहपुर थाना तिसिऔता ने अपनी बेटी के अपहरण के बाद जब मनोज चौधरी के पास गई तो वह दो दिन बाद लड़की को वापस करने का आश्वासन भी दिया लेकिन लड़की नहीं लौटी।

अपनी बेटी की रिहाई की गुहार लगाने गई मां को आरोपियों ने धक्का मुक्की करते हुए जाति सूचक शब्द प्रयोग कर गाली-गलौज भी किया और गोली से जान मारने की धमकी भी।ठीक छह दिन बाद लड़की की लाश मिलने के बाद स्थानीय लोग उबल पड़े और सड़क जाम कर हत्यारे की गिरफ्तारी की मांग पर डटे रहे।पुलिस ने 48 घंटे में हत्यारों की गिरफ्तारी का आश्वासन देते हुए जाम समाप्त कराया।वहीं मृतका के परिजन का रो रो कर बुरा हाल है।यह घटना वैशाली जिले के जन्दाहा प्रखंड के शाहपुर गांव की है।बेटी की मौत से पूरे गांव में मातम पसरा है।बेटी को इंसाफ दिलाने के लिए स्थानीय लोगों ने पुलिस व उच्चाधिकारियों से अविलंब हत्यारे की गिरफ्तारी की मांग की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page