डॉक्टर अम्बेडकर शोषितो,पीड़ितों,दलितों एवं वंचितों के आवाज थे —सत्येन्द्र रंजन

अरवल

अरवल ज़िला लोक जनशक्ति पार्टी की ओर से अरवल ज़िला के सांस्कृति भवन में संविधान निर्माता भारत रत्न डॉक्टर भीम राव अम्बेडकर साहब के 130 वीं जयंति उनके तैल चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित कर श्रद्धा पूर्वक धूम धाम से मनाई गई।इस जयंति समारोह की अध्यक्षता लोजपा जिलाध्यक्ष सत्येन्द्र रंजन ने किया।इस जयंति समारोह को सम्बोधित करते हुए रंजन ने कहा कि डॉक्टर अम्बेडकर समाज के अंतिम ब्यक्ति शोषितों,पीड़ितों,दलितों,पिछड़ो एवं वंचितों के आवाज थे।

कमजोर वर्गों के समाजिक और आर्थिक उत्थान करने के लिये जीवन भर संघर्ष करते रहे

उन्होंने शोषितो,पीड़ितों,पिछड़ो,दलितों एवं समाज के कमजोर वर्गों के समाजिक और आर्थिक उत्थान करने के लिये जीवन भर संघर्ष करते रहे।इस जयंति समारोह के मुख्य अतिथि लोजपा के वरिष्ठ नेता सह कुर्था विधानसभा के प्रत्याशी भुनेश्वर पाठक ने सम्बोधित करते हुए कहा कि डॉक्टर अम्बेडकर कुशल राजनीतिज्ञ,विधिवेत्ता,अर्थशास्त्री और लोकप्रिय समाज सुधारक थे।

किसान,मजदूर,छात्र,नौजवान एवं महिलाओं के अधिकारों को समर्थन किया

उन्होंने दलित बौद्ध आंदोलन को प्रेरित किया और समाजिक भेद भाव के विरुद्ध अभियान चलाया।उन्होंने किसान,मजदूर,छात्र,नौजवान एवं महिलाओं के अधिकारों को समर्थन किया था।वे स्वतंत्र भारत के प्रथम विधि एवं न्यायमंत्री भारतीय संविधान के जनक एवं भारत गणराज्य के निर्माता थे। 14 अप्रैल के दिन को अम्बेडकर जयंति समानता दिवस और ज्ञान के रूप में भी मनाया जाता है।जयंति समारोह में मुख्य रूप से सभी निवर्तमान ज़िला उपाध्यक्ष रमेश रजक,राजेन्द्र यादव,नरेश पासवान,श्याम बाबू भगत,अरवल लोजपा प्रखंड अध्यक्ष कृष्ण कुमार गुप्ता,वंशी लोजपा प्रखंड अध्यक्ष महावीर पासवान,शिव कुमार पासवान,रामबचन पासवान,कुर्था से विनय पासवान,विजय पासवान,रवि चंद्रलोक,सुनील कुमार,रामानंद भगत,चन्देश्वर पासवान,राजेश्वर पासवान सहित सैकड़ों लोगों ने भाग लिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page