जयमाल के समय पहुँचकर प्रेमिका ने शादी रोकवाई,युवक पहले से ही शादी कर रखा था युवती से

पटना (पालीगंज)

पालीगंज अनुमंडल क्षेत्र के मुरारचक गांव की बीती रात की कहानी है।कल प्यार आज शादी फिर कल तलाक यही है आज कल के युवाओं की प्रेम और शादी का परिणाम।जब मन किया शादी कर ली फिर मन भर गया तो पहली को छोड़कर दूसरी से शादी रचा लीया।यह अजब प्रेम की गजब कहानी आज कल खूब देखने और सुनने को मिल रहा है।न प्रेम करते देर लग रही है न शादी करते देर एक कहावत है चट मंगनी पट विवाह लेकिन इसकी दुष्परिणाम भी कम नही देखने को मिल रहा है।


जीहाँ कुछ इसी तरह कहानी बीते रात कल पालीगंज में देखने को मिला।जब एक युवती ने जब पुलिस लेकर पहुँच गई।अपने प्रेमिका सह पति की दावे करते हुए दूल्हे बने युवक की बारात में जहा जयमाल की रश्म अदा हो रही थी।दूल्हे-दुल्हन एक दूसरे के गले मे फूलों का हार डाल कर जयमाल कर रहे थे। ठीक उसी समय फिल्मी स्टाइल मे पुलिस के साथ पहुँचकर प्रेमिका ने अपने प्रेमी सह पति के दावे करते हुए बारात मे साक्षी के तौर पर शामिल रहे सैंकडो लोगों के साथ साथ लड़की वाले शरात पार्टी को स्तब्ध और भवच्चक्के कर दिया।

लड़की की पुख्ता दावे और ठोस सबूत के बाद शादी को जयमाल रश्म के बाद रोक दिया गया।लड़के ने भी लड़की के दावे को सही बताते हुए कहा की परिजनों के दबाव के बाद मजबूर होकर हम शादी करने को विवश हो गए थे।
यह फिल्मी कहानी नही यह हकीकत घटना घटित हुई है जी हां यह घटना पटना जिले के पालीगंज अनुमंडल के सिगोडी थाने के क्षेत्र मुरारचक गाँव में जहा भीम यादव की सुपुत्री कुमारी पिंक्की की शादी के लिए बारात पालीगंज थाने के सियारामपुर गाँव से संजय यादव के पुत्र अनिल कुमार की बारात धूमधाम से मुरारचक गई थी।लेकिन नाटकीय ढंग से यह शादी लड़की के दावेदारी के बाद पुलिस ने रुकवा दिया।फिर आज सुबह वही लड़की कुमारी पिंकी से लड़के के छोटे भाई से शादी करवाई गई और बारात की इज्जत बचाई गई।


जानकारी के अनुसार पालीगंज थाने के सड़सी गाँव के एक लड़की से सियामपुर गाँव के लड़का के बीच काफी दिनों से प्रेम चल रहा था।इसी बीच प्रेम प्रसंग इतना परवान चढ़ा की दोनों एक दूसरे के बगैर एक पल जीना मुश्किल होने लगा।जीने मरने की एक साथ कसमे लगे दोनों ने मजबूर होकर शादी रचा लिया और पिछले एक साल से दिनों पति पत्नी के रूप मे चोरी छिप्पे या खुलेयाम रहने लगे।इसी बीच लड़के पर उसके परिजनों ने शादी के लिए दबाव डालते हुए शादी करने को मजबूर कर दिया।बीते कल 15 जून को लड़के की शादी थी जिसके बारात मुरारचक गाँव गई थी।जैसे ही लड़की की यह बात पता चली की आज बारात गई वह सिगोडी थाने पहुँचकर पुलिस को सब कुछ बताते हुए यह शादी को तत्काल रुकवाने की आग्रह किया।उक्त लड़की के दावे और उसके द्वारा शादी की अनेकों तस्वीरें पेश करने के बाद पुलिस भी विवश होकर लड़की के साथ दिया और दलबल के साथ पुलिस पहुँचकर इस शादी रोकवा दिया।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार उक्त लड़के ने भी लड़की के दावे को सही बताते हुए माना की हमलोग बिगत एक साल शादी कर पति पत्नी के रूप मे एक साथ रह रहे है।लेकिन परिजनों के दबाव के आगे हम विवश होकर शादी करने मजबूर हो गए थे।

RAHUL KUMAR

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page