छात्र हितों का ख्याल रखें कुलपति नही तो होगा आमरण अनशन –मनीष सारण..

छात्र हितों का ख्याल रखें कुलपति नही तो होगा आमरण अनशन मनीष सारण

बिहार (सारण) जिला—

शोध विद्यार्थी संगठन (आर.एस.ए) द्वारा चलाये जा रहे आंदोलन से घबराकर जय प्रकाश विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो फारुख अली द्वारा स्नातक पार्ट 1 (2019-2022)के परीक्षा फॉर्म भरने की तिथि आनन फानन में जारी कर दिया गया।जबकि विभाग द्वारा अभी किसी भी प्रकार की तैयारियां नहीं कि गईं थीं।साथ ही मात्र 6 दिन ही फॉर्म भरने का समय निर्धारित किया गया,जिसमें पहले दिन तो साइट ही नहीं खुला दूसरे दिन रविवार छुट्टी में ही बीत गया।सोमवार रात तक महज 25% छात्र छात्राओं का ही फॉर्म भरा गया है,वी वी के वेबसाइट पर अत्यधिक लोड होने से फॉर्म भरने में परेशानी हो रही हैं।


संगठन संरक्षक मनीष पाण्डेय मिन्टू ने बताया कि कई महाविद्यालयों में इंटर की परीक्षाएं चल रही है वहाँ तो छात्र छात्राओं को और परेसानी हो रही है।महाविद्यालयों द्वारा सुबह 7 बजे से 8 बजे तक ही फॉर्म भरने का काम हो पा रहा है,ऐसे में विश्वविद्यालय प्रशासन बच्चों के साथ घिनौना मज़ाक कर रहा है,साथ ही प्रमंडल के बच्चों को उच्च शिक्षा से वंचित करने का कुकृत्य प्रयास कर रहा है।


कुलपति के आने के बाद सेइनके संरक्षण में महाविद्यालयों में भ्रष्टाचार जोर शोर से बढ़ गया है।छात्रों का दोहन किया जा रहा है।महाविद्यालय से लेकर विश्वविद्यालय परिसर तक अराजकता का माहौल बना हुआ है।कुलपति को विश्वविद्यालय में पद ग्रहण के 6 माह होने को है।अभी तक छात्रों के हित में किसी भी तरह का ठोस कदम नहीं उठाया गया।


जिसको लेकर आर एस ए द्वारा प्रमंडल के सभी महाविद्यालयों में संगठन इकाइयों द्वारा विरोध प्रदर्शन शुरू किया गया था, जो अंत में विश्वविद्यालय परिसर में आमरण अनशन करने तक था।
विदित हो कि संगठन ने कुलपति को कई बार आवेदन पत्र देकर छात्र छात्राओं के हित में विभिन्न मांग किया था।जिसको लेकर विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा किसी भी तरह की पहल नहीं कि गई।अंत में संगठन द्वारा सड़क पर परिसर में आंदोलन करने का फ़ैसला किया गया।अगर हमारी मांगों पर एक सप्ताह के अंदर पहल नहीं किया गया तो संगठन द्वारा विश्वविद्यालय परिसर में आमरण अनशन शुरू किया जाएगा।

खबरें आस पास के…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *