छपरा के युवा किसान रवि तिवारी अब ऑर्गेनिक ओयस्टर मशरूम की खेती से हर महीने कमा रहा है लाखों रुपए

छपरा

जिले के साढा गांव के उमा नगर निवासी रवि ने बेरोजगारी से हिम्मत नहीं हारी।आज घर बैठे मशरूम की खेती कर प्रतिमाह करीब लगभग एक लाख रु. कमा रहा हैं।बेरोजगारी के कारण कुछ नही होने कारण घर पर बैठे बैठे कुछ नही सूझ रहा था तो उसने मशरूम की खेती शुरू कर दिया,समस्तीपुर पूसा से मशरूम की खेती का प्रशिक्षण लिया।इसके बाद गांव लौटकर घर के एक कमरे में मशरूम की खेती शुरू कर दी।इसमें उसे अच्छा लाभ मिला।सभी खर्च काटने के बाद उन्हें प्रतिमाह लगभग लगभग एक लाख रु. की शुद्ध बचत हो जाती है।

घर में पैदा की जा सकती है मशरूम

मशरूम की खेती के लिए जमीन की जरूरत नहीं है। इसका प्लांटेशन घर पर लगा सकते हैं।मगर,अनुकूल तापमान होना जरूरी है।हजारी के अनुसार,प्लांटेशन वाले कमरे का तापमान 12 से 20 डिग्री होना चाहिए।मशरूम की खेती किसी भी मौसम में कर सकते हैं।प्लांटेशन के एक माह बाद उत्पादन शुरू हो जाता है।

ऑनलाइन व ऑफलाइन करते हैं सप्लाई

रवी ने बताया कि मशरूम बेचने के लिए ऑनलाइन जायदा सप्लाई करते है जिस ग्राहक का कॉल आता है बिना डिलीवरी चार्ज लिए उनके घर तक पहुंचा देते है।सभी लोग इसे खरीद कर इस्तेमाल कर रहे हैं। 150 रूपए किलो मशरूम बिक जाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page