कोरोना संक्रमण की रोकथाम को ले अधिकारियों ने की अहम बैठक

हाजीपुर(वैशाली)

अपर समाहर्ता वैशाली जितेन्द्र प्रसाद साह की अध्यक्षता समाहरणालय सभागार कोरोना संक्रगण की रोकथाम के लिए बनाये गये सभी कोषांगों के वरीय पदाधिकारी एवं नोडल पदाधिकारियों की एक महत्वपूर्ण बैठक सम्पन्न हुयी। जिसमें निदेश दिया गया कि सभी पदाधिकारी अपने अपने कोषांगों के कार्यो की प्रति दिन समीक्षा करें और निर्गत निदेश का अनुपालन करायें।उन्होंने कहा कि कोविड संक्रमण के मामले को नियंत्रित करने,होम आईसोलेशन के पहचान एवं प्रबंधन एवं बेहतर स्वास्थ्य सुविधा पाला कराने के लिए संक्रमण की जाँच, संक्रमित व्यक्ति को आईसोलेशन सेन्टर में लाने,संक्रमित व्यक्ति के संपक में आए व्यक्तियों की कन्टेक्ट-ट्रेसिंग संक्रमण के स्थल को सेनेटाईज करने, संक्रमण के स्थल को माइक्रो कन्टमेत जोन बनाए जाने, होम आईसोलेशन में रह रहे लोगों की प्रतिदिन मोनिटरिंग तथा इस पूरी प्रक्रिया के अनुश्रवण हेतु कोषागों एवं जिला नियंत्रण कक्ष टॉल फ्री नं. 180003456616 एवं 104 तथा 06224-260220 पर (सदर अस्पताल, हाजीपुर) की स्थापना करायी गयी है।नियंत्रण कक्ष के वरीय पदाधिकारी के रूप में हरेन्द्र राम, जिला पंचायती राज पदाधिकारी, वैशाली मो0-9472980337 एवं नोडल पदाधिकारी के रूप में विशाल परीक्ष्यमान वरीय ला समाहर्ता, वैशाली मो0-8584017233 के साथ-साथ अन्य पदाधिकारी,कर्मी, कम्पयूटर ऑपरेटर की प्रतिनियुक्ति की गयी है।उन्होंने कहा कि प्रतिनियुक्त चिकित्सक,कर्मियों को निदेश दिया गया है कि निर्धारित समयानुसार सदर अस्पताल, हाजीपुर जिला नियंत्रण कक्ष में उपस्थित कहकर नियंत्रण कक्ष के वरीय पदाधिकारी के निदेशानुसार होग आइसोलेशन में रह रहे संक्रमित व्यक्तियों से उनके स्वास्थ्य तथा उपलब्ध सुविधाओं के संबंध में अद्यतन स्थिति प्रतिदिन जानकारी प्राप्त कर पंजी में दर्ज करेंगे तथा वरीय पदाधिकारी के निदेशानुसार अग्रेतर कार्रवाई सुनिश्चित करेंगे। होम आईसोलेशन में रह रहे संक्रमित से अन्य जानकारी के आलावा यह जानकारी भी अवश्य प्राप्त करें जेस खाँसी-जुकाम, बुखार इत्यादि।परिवार में अन्य व्यक्तियों की टेस्टींग हुई है कि नही कन्टेन्मेन्ट जोन बना है कि नहीं।उन्होंने कहा कि कन्ट्रोल रूम में प्राप्त शिकायत की भी एक पंजी संधारित की जाय तथा प्राप्त शिकायत से संबंधित पदाधिकारी यथा प्रखंड विकास पदाधिकारी,अंचलाधिकारी, प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी,प्रखंड कर्मी को सूचित किया जाए तथा इस पर की गयी कार्रवाई को सूचीवद्ध किया जाय। होम आईसोलेशन में रह रहे कोरोना संक्रमितों से पूछ-ताछ के क्रम में यदि यह जानकारी मिलती है कि उनके स्वास्थ्य की स्थिति अच्छी नहीं है तो इसकी सूचना संबंधित प्रखंड के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी को दी जायेगी।

वे पीड़ित के घर पर क्यूएमआरटी भेजकर स्वास्थ्य जाँच सुनिश्चित करेंगे।जिला नियंत्रण कक्ष के सुव्यवस्थित संचालन में किसी भी प्रकार की शिथिलता के गंभीरता से लिया जायेगा तथा एपेडमिक डिजीज एक्ट 1897 तथा आपदा प्रबंधन अधिनियम की सुसंगत धाराओं के अन्तर्गत दोषी पदाधिकारी,कर्मी के विरूद्ध अनुशासनिक कार्रवाई की जायेगी।बैठक में अपर समाहर्ता के साथ निदेशक डीआरडीए संजय कुमार निराला, जिला परिवहन पदाधिकारी जर किाश नारायण, जिला आपूर्ति पदाधिकारी अरूण कुमार सिंह, डीसीएलआर सदर, सिविल सर्जन सभ रीय उप समाहर्ता, जिला शिक्षा पदाधिकारी, जिला पंचायतीराज पदाधिकारी, जिला कल्याण पदाधिकारी, डीपी मईसीडीएस, सहायक निदेशक बाल संरक्षण ईकाई वैशाली सहित अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page