कोचिंग संस्थानों में मनाई गई धूमधाम से सरस्वती पूजा..

पटना (पालीगंज)


पालीगंज प्रखण्ड क्षेत्र के विभिन्न जगहों पर धूमधाम से मनाई गई सरस्वती पूजा सभी इलाको के शिक्षण संस्थाओं के अलावे कई गांवो में सामाजिक स्तर पर बिद्या की देवी कहि जानेवाली मां सरस्वती की पूजा मंगलवार को धूमधाम से मनाई गई।जानकारी के अनुसार बसन्त ऋतु के आगमन पर पंचमी के दिन मंगलवार को पूरे पालीगंज क्षेत्र में मां सरस्वती की आराधना व गीतों से वातावरण भक्तिमय हो गया।

बच्चों ने धूमधाम से मां सरस्वती की पूजा किया

वही बसन्त ऋतु के आगमन के साथ आम के पेड़ों पर मंजर व फूलों की खुशबू से वातावरण मनमोहक लगने लगा है।इसी बीच पालीगंज के ख़िरीमोड थाना स्थित बहेरिया निरखपुर गांव में 1994 में स्थापित प्राइवेट कोचिंग सेंटर में बच्चों ने धूमधाम से मां सरस्वती की पूजा किया।पूजा करवा रहे कोचिंग के संस्थापक सह शिक्षक वेद प्रकाश ने बताया कि बच्चों के आग्रह पर मुझे ही पंडित के स्थान पर पूजा कराना पड़ता है। बच्चो का कहना है कि जाति ब्राह्मणों की होती है पर पूजा तो पंडित ही कराते है।पंडितों की कोई जाति नही होती है।शायद इसीलिए कहा गया है कि पोथी पढ़ी पढ़ी जग मुआ पंडित भयो न कोई, ढाई आखर प्रेम से पढ़े वो पंडित होए।

बसन्त ऋतु के आगमन के साथ ही होली की शुभारम्भ मानी जाती है

पूजा के बाद बच्चो ने एक दूसरे को गुलाल लगाकर आपसी प्रेम का परिचय दिया।बाद में सभी ने आपस मे प्रसाद वितरण व ग्रहण किया। इस प्रकार के सभी इलाको में मां सरस्वती की पूजा धूम धाम से मनाई गई।वही खिरीमोड़ पर माँ कंप्यूटर टाइपिंग सेंटर पूजा का आयोजन किया गया मौके पर डायरेक्टर सोनू कुमार यादव पूजा-पाठ किया।बसन्त ऋतु के आगमन के साथ ही होली की शुभारम्भ मानी जाती है।इसी कारणवश बसन्त पंचमी के अवसर पर मां सरस्वती की पूजा के साथ ही गुलाल लगाने की शुरुआत किया जाता है।साथ ही बसन्त ऋतु के आगमन के बाद से मौसम में गर्मी बढ़ने लगती है।

PANKAJ KUMAR

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *