उत्तराखंड के जोशीमठ में बड़ा हादसा हुआ है,50-75 मजदूर लापता बताए जा रहे हैं…

BIG BRAKING NEWS—–

उत्तराखंड के जोशीमठ में बड़ा हादसा हुआ है,50-75 मजदूर लापता बताए जा रहे हैं

उत्तराखंड—उत्तराखंड के जोशीमठ में बड़ा हादसा हुआ है।जोशीमठ में ग्लेशियर गिरने से डैम टूट गया है।इस में कई लोगों के बहे जाने की बात कही जा रही है।DIG SDRF रिदिम अग्रवाल ने कहा है कि ऋषिगंगा प्रोजेक्ट से जुड़े उनके 50-75 मजदूर लापता हैं।बताया जा रहा है कि तपोवन के ऊपर से किसी नदी के फटने की वजह से ऐसा हुआ है।जिस नदी के फटने की बात कही जा रही है,उसे धौली गंगा भी कहा जाता है।जिस वक्त यह बर्फीला तूफान आया उस वक्त जोशीमठ में अच्छी खासी धूप खिली हुई थी।जिस से भी लोग हैरान हैं।इस भयंकर हादसे पर राज्य के सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत का भी बयान आ गया है।उन्होंने कहा,टचमोली जिले से एक आपदा का समाचार मिला है।जिला प्रशासन,पुलिस विभाग और आपदा प्रबंधन को इस आपदा से निपटने की आदेश दे दिए हैं।किसी भी प्रकार की अफवाहों पर ध्यान ना दें। सरकार सभी जरूरी कदम उठा रही है।’

हरिद्वार तक अलर्ट जारी कर दिया गया है

पोस्ट जोशीमठ से हेड कांस्टेबल मंगल सिंह द्वारा बताया गया कि उन्हें 10 बजकर 55 मिनट पर थाना जोशीमठ से रैणी गांव में ग्लेशियर टूटने की सूचना मिली थी।इस के बाद हरिद्वार तक अलर्ट जारी कर दिया गया है।चमोली जिले के पुलिस अधीक्षक यशवंत सिंह चौहान ने बताया कि काफी नुकसान की सूचना आ रही है।लेकिन अभी स्थिति स्पष्ट नहीं है।आपदा राहत टीम मौके पर जा रही है।उसके बाद ही नुकसान की स्थिति स्पष्ट हो पाएगी।

काफी नुकसान की सूचना आ रही है

वहीं,श्रीनगर जल विद्युत परियोजना को झील का पानी कम करने के निर्देश जारी किए गए हैं।ताकि अलकनंदा का जल स्तर बढ़ने पर अतिरिक्त पानी छोड़ने में दिक्कत न हो।
चमोली के पुलिस अधीक्षक यशवंत सिंह चौहान ने बताया कि काफी नुकसान की सूचना आ रही है।लेकिन अभी स्थिति स्पष्ट नहीं।टीम मौके पर जा रही है,उसके बाद ही नुकसान की स्थिति स्पष्ट होगी।

तपोवन बैराज पूरी तरह से ध्वस्त

बताया जा रहा है कि ग्लेशियर फटने के बाद बांध क्षतिग्रस्त हुआ।जिस से नदियों में बाढ़ आ गई है। तपोवन बैराज पूरी तरह से ध्वस्त हो गया है।श्रीनगर में प्रशासन ने नदी किनारे बस्तियों में रह रहे लोगों से सुरक्षित स्थानों में जाने की अपील की है।वहीं,नदी में काम कर रहे मजदूरों को भी हटाया जा रहा है।उधर,बाढ़ के बाद अब धौली नदी का जल स्तर पूरी तक रूका हुआ है।स्टेट कंट्रोल रूम के अनुसार,गढ़वाल की नदियों में पानी ज्यादा बढ़ा हुआ है। करंट लगने से कई लोग लापता बताए जा रहे है।

मुख्यमंत्री लगातार पूरी स्थिति पर नजर रखे हुए हैं

सीएम कर सकते हैं हवाई दौरा वहीं,मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने सचिव आपदा प्रबंधन और डीएम चमोली से पूरी जानकारी प्राप्त की।मुख्यमंत्री लगातार पूरी स्थिति पर नजर रखे हुए हैं।संबंधित सभी जिलों को अलर्ट कर दिया गया है। लोगों से अपील की जा रही है कि गंगा नदी के किनारे न जाएं।वहीं,बताया जा रहा कि सीएम घटनास्थल का हवाई दौरा भी कर सकते हैं।चमोली जिले के सभी कार्यक्रम रद्द कर दिए गए हैं।वहीं,आला अधिकारियों की आपात बैठक बुलाई जा सकती है।

खबरें आस पास के…..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page