आज केन्द्र सरकार किसानों को गुलाम बनाने वाले तीन काले कृषि क़ानूनों को रद्द नहीं कर रही है—उमेश प्रसाद मंडल

अरवल ( कुर्था )

संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर भारत बंद को संपन्न कराने के लिए कुर्था में भी अखिल भारतीय किसान खेत मजदूर संगठन (AIKKMS), किसान मजदूर विकास संगठन, किसान सभा ,सोशलिस्ट यूनिटी सेंटर ऑफ इंडिया (कम्युनिस्ट), भाकपा माले ,छात्र संगठन ऑल इंडिया डेमोक्रेटिक स्टूडेंट्स ऑर्गनाइजेशन (AIDSO)ने संयुक्त रूप से कुर्था बाजार में जुलूस निकाला।और विभिन्न चौक चौराहों पर सभा भी किया।
सभा को संबोधित करते हुए अखिल भारतीय किसान खेत मजदूर संगठन( AIKKMS)के जिला संयोजक कामरेड उमेश प्रसाद मंडल ने कहा कि आज केन्द्र सरकार किसानों को गुलाम बनाने वाले तीन काले कृषि क़ानूनों को रद्द नहीं कर रही है ।किसान आन्दोलन के 4 माह पूरे हो गए हैं।अब तक 300 किसान शहीद हो चुके हैं। उन्होंने तमाम किसानों एवं नौजवानों से आह्वान किया कि जब तक कानून वापस नहीं होता है तब तक आन्दोलन को तेज करते जाएं

यह क़ानून किसानों को अपने खेत पर पूंजीपतियों का गुलाम बना देगा


सोशलिस्ट यूनिटी सेंटर ऑफ इंडिया (कम्युनिस्ट) के जिला सचिव कामरेड रूपेश कुमार ने कहा कि दरअसल ये तीनों कालों का कृषि क़ानून देसी विदेशी पूंजीपतियों के अपार मुनाफा पहुंचाने के लिए बनाए गए हैं ।यह क़ानून किसानों को अपने खेत पर पूंजीपतियों का गुलाम बना देगा।अनाजों का भयंकर कालाबाजारी आरम्भ हो जाएगा।फलस्वरूप अनाजों का दाम आसमान छूने लगेंगे।तब भुखमरी काफी बढ़ जाएगी। इसीलिए किसानों एवं आम जनता से हार्दिक अपील किया कि वे क़ानून वापसी तक बहादुरी के साथ आन्दोलन में डटे रहे और इसे निरंतर ताक़तवर बनाते रहा जाए।

यह सरकार केवल किसान विरोधी ही नहीं बल्कि छात्र विरोधी भी है


छात्र संगठन एआईडीएसओ के जिला प्रभारी पवन कुमार ने कहा कि हमारा छात्र संगठन शुरू से ही किसानों के न्यायसंगत आन्दोलन के साथ है।यह सरकार केवल किसान विरोधी ही नहीं बल्कि छात्र विरोधी भी है,1 कृषि क़ानून किसानों एवं आम जनता के लिए पूरी तरह विनाशकारी है।इसीलिए इस आन्दोलन को विजयी बनाने के लिए हम सभी छात्र किसान आन्दोलन के साथ हैं।सभा को महेश प्रसाद यादव ,जनकदेव प्रसाद,सर्वर इंजीनियर,महेन्द्र कुमार,बलिंदर शर्मा,गोविंदा कुमार,दीपक कुमार, सुनील यादव,अमरेश कुमार,आदि ने संबोधित किया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page