अधिक मेहनत और कम पारिश्रमिक के साथ जी-तोड़ काम करने वाले स्थानीय पत्रकारों के संघर्ष के साथ हमेशा खड़ा रहा हूँ — संदीप सौरभ

सत्तारूढ़ पार्टी द्वारा में स्ट्रीम मीडिया का गलत इस्तेमाल लोकतंत्र के लिए खतरा –विधायक संदीप सौरभ

पटना (पालीगंज)

RATNESH KUMAR

पिछले दिन पत्रकारिता दिवस के दिन ट्विटर पर पालीगंज विधायक संदीप सौरभ के एक पोस्ट को लेकर गलत फहमी फैली है।अथवा फैलाई जा रही है कि उन्होंने सभी पत्रकारों को दलाल कहा है।जब कि उनके अनुसार यह बात सरासर गलत है और पोस्ट की मनगढंत व्याख्या है।उनका कहना है कि ट्विटर पर मेरे पोस्ट के नीचे के हैशटैग (#AajTak_दलालमोदीका) को हटा कर वाट्सअप और फेसबुक पर दुष्प्रचार चलाया गया। यहाँ तक कि कुछ स्थानीय अखबारों में इसे लेकर खबरें भी छपी।

ट्वीटर पोस्ट को संदर्भ से काटकर पत्रकारों के खिलाफ पोस्ट का दुष्प्रचार निंदनीय –संदीप सौरभ

इस पर संदीप सौरभ ने कहा कि मैं हर पेशे का सम्मान करता हूँ और लोकतंत्र में पत्रकारों की भूमिका और महत्व को जनता हूँ।अधिक मेहनत और कम पारिश्रमिक के साथ जी-तोड़ काम करने वाले स्थानीय स्तर पत्रकारों के संघर्ष को मैंने करीब से देखा है।इनके लिए मेरे मन में हमेशा सम्मान रहा है और उनका यथासंभव सहयोग किया है।

NDTV इंडिया के पत्रकार रविश कुमार स्वयं ऐसे पत्रकारों की तीखी आलोचना करते हैं।

साथ में उन्होंने ये भी कहा कि ट्विटर चलाने वाले सब लोग जानते हैं कि ट्विटर में ‘हैशटैग’ का काफी महत्व होता है।यह ‘हैशटैग’ ही पोस्ट के संदर्भ को स्पष्ट करता है और यही ट्रेंड करता है। 30 तारीख को ट्विटर पर राष्ट्रीय स्तर पर #AajTak_दलालमोदीका ट्रेंड कर रहा था।मेरा पोस्ट इसी संदर्भ में था और इसी हैशटैग के साथ था!
उन्होंने स्पष्ट कहा कि ‘आज तक’ और इन जैसे दूसरे चैनल जैसे ‘जी-न्यूज’, ‘रिपब्लिक भारत’,’एबीपी न्यूज़’ आदि हमारी मुख्य धारा की अधिकांश मीडिया चैनल की पत्रकारिता के स्तर में जो गंभीर और शर्मनाक गिरावट आई है।वह हमारे लोकतंत्र के लिए घातक हैं।देश की सत्तारूढ़ पार्टी और सत्ता की कमियों को दिखाने के बजाय विपक्ष पर हमला,जनता को हिन्दू-मुसलमान दिखाकर,समाज में विभाजन पैदा कर उन्हें असल मुद्दों से भटकाना-ये कोई पत्रकारिता है क्या? उन्होंने कहा कि NDTV इंडिया के पत्रकार रविश कुमार स्वयं ऐसे पत्रकारों की तीखी आलोचना करते हैं।इसका ये मतलब नहीं है कि वो पत्रकारिता के खिलाफ हैं,बल्कि कि वे अपने मूल्यों से विचलित पत्रकारिता के खिलाफ हैं।

पिछले 6 सालों में हुई प्राइम टाइम डिबेट की विषयवस्तु देखिए,इनके द्वारा चलाई गई खबरों का कंटेंट देखिए

आगे पालीगंज विधायक कहते हैं कि उनके पोस्ट में हैशटैग (अर्थात संदर्भ ) के साथ उन्हीं पत्रकारों/एंकरों को दलाल कहा गया है जो अपने चैनल पर सिर्फ सत्ता की चापलूसी करते हैं। इस चैनल पर हुए पिछले 6 सालों में हुई प्राइम टाइम डिबेट की विषयवस्तु देखिए,इनके द्वारा चलाई गई खबरों का कंटेंट देखिए।अगर इस चैनल के पत्रकारों को मेरे ट्वीट से आपत्ति है तो मैं उनसे बहस के लिए तैयार हूं।शेष पत्रकारों से हमारी कोई शिकायत नहीं है!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page